लाइव टीवी
Elec-widget

महाराष्ट्र को स्थायी सरकार नहीं दे पाएगा शिवसेना-एनसीपी और कांग्रेस का गठबंधन : गडकरी

News18Hindi
Updated: November 22, 2019, 5:09 PM IST
महाराष्ट्र को स्थायी सरकार नहीं दे पाएगा शिवसेना-एनसीपी और कांग्रेस का गठबंधन : गडकरी
केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि शिवसेना की सरकार पांच साल नहीं चल पाएगी. (फाइल फोटो)

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने शिवसेना-राकांपा- कांग्रेस के गठबंधन पर निशाना साधा है उन्होंने कहा कि तीनों दलों की विचारधारा में गहरा मतभेद है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 22, 2019, 5:09 PM IST
  • Share this:
रांची. केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने शिवसेना (Shiv sena), एनसीपी (NCP) और कांग्रेस (Congress) के गठबंधन पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि तीनों दलों की विचारधारा में गहरा मतभेद है. तीनों दल अपना स्वार्थ सिद्ध करने के लिए एक साथ आ रहे हैं. यह गठबंधन महाराष्ट्र (Maharashtra) को स्थायी सरकार नहीं दे सकता. झारखंड में विधानसभा चुनाव प्रचार के लिए रांची आए गडकरी ने कहा, ‘अलग-अलग विचारधारा वाली इन पार्टियों द्वारा किया गया गठबंधन सिर्फ भाजपा को सत्ता से बाहर रखने के लिए किया गया है, जो कि दुर्भाग्यपूर्ण है.'

गडकरी ने कहा, ‘अवसरवादिता उनके गठबंधन का आधार है. ये तीनों पार्टियां केवल भाजपा को सत्ता से बाहर रखने के मकसद से साथ एकजुट हुई हैं. मुझे संदेह है कि यह सरकार बन भी पाएगी. और अगर बन भी गई तो छह-आठ महीने से अधिक नहीं चल पाएगी.’

गौरतलब है कि शिवसेना, कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) महाराष्ट्र में सरकार गठन के स्वरूप पर बातचीत कर रही हैं. दरअसल, महाराष्ट्र में 21 अक्टूबर को हुए विधानसभा चुनाव के बाद मुख्यमंत्री पद साझा करने पर (भाजपा और शिवसेना के बीच) सहमति नहीं बनने के बाद शिवसेना ने अलग रास्ता ढूंढना शुरू कर दिया.

यह पूछे जाने पर कि क्या शिवसेना-कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन टूटने की स्थिति में भाजपा सरकार बनाने की कोशिश करेगी, इस पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि ऐसी परिस्थिति पैदा होने पर पार्टी अपनी भविष्य की रणनीति के बारे में फैसला करेगी.
Loading...


बिल्कुल अलग-अलग विचारधाराओं वाली पार्टियों के सरकार गठन के लिए एकजुट होने पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा, ‘क्रिकेट और राजनीति में कुछ भी हो सकता है.’ उन्होंने कहा कि शिवसेना और भाजपा का गठबंधन' हिंदुत्व’ पर आधारित था. गडकरी ने कहा कि जब उन्होंने छानबीन की तब शिवसेना का मुख्यमंत्री पद साझा करने का दावा झूठा निकला. उन्होंने कहा, ‘पार्टी अध्यक्ष और अन्य के अनुसार मुख्यमंत्री पद पर पार्टी को अपना रुख बाद में तय करना था, लेकिन चीजें दुर्भाग्यपूर्ण तरीके से बदल गईं.’ उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री उस दल से होना चाहिए, जिसके पास अधिक जनादेश है.

गडकरी ने कहा कि मुख्यमंत्री कौन होगा, यह महाराष्ट्र पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष, राज्य के मुख्यमंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पर निर्भर करता है. गडकरी ने कहा, ‘हमने अपनी पूरी कोशिश की.’

यह भी पढ़ें : 

शिवसेना-कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर
मुंबई की 'किंग' बनी शिवसेना! मेयर पद पर किया कब्जा, बधाई देने पहुंचे उद्धव
महाराष्ट्र की गठबंधन सरकार में समाजवादी पार्टी की ये रहेगी भूमिका!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 22, 2019, 3:39 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...