हम 300 से अधिक सीटें जीतकर फिर सत्ता में आएंगे: नितिन गडकरी

भाजपा के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने न्यूज 18 को दिए एक विशेष साक्षात्कार में कहा कि हम 300 से अधिक सीटें जीतकर फिर से सत्ता में आएंगे.

News18India
Updated: March 22, 2019, 8:00 PM IST
हम 300 से अधिक सीटें जीतकर फिर सत्ता में आएंगे: नितिन गडकरी
नितिन गडकरी
News18India
Updated: March 22, 2019, 8:00 PM IST
केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने न्यूज 18 को दिए एक विशेष साक्षात्कार में कहा है कि शिव सेना  और बीजेपी ने तय किया है कि पिछली बातें हम भूल जाएं और मिलकर काम करें. आगामी 2019 के लोकसभा चुनावों में हमारी जीत सुनिश्चित है. हम देश में 300 से अधिक सीटें जीतेंगे. उन्होंने कहा कि हम विकास के मुद्दे पर लोकसभा चुनाव लड़ रहे हैं. चौकीदार हमारा मूल मुद्दा नहीं है यह चुनाव के दौरान आ गया है. विकास ही चुनाव का मूल मुद्दा है. कांग्रेस मुक्त भारत के बारे में गडकरी ने कहा कि बीजेपी ने कभी भी कांग्रेस मुक्त भारत नहीं कहा है, हम विपक्षी पार्टी चाहते हैं, लेकिन हमें कांग्रेस विचारधारा मुक्त भारत चाहिए. पार्टी को दो लोगों के चलाने के आरोप पर गडकरी ने कहा कि हमारी पार्टी व्यक्ति आधारित पार्टी कभी नहीं रही है, विपक्षी दल यह आरोप लगाते रहे हैं कि अमित शाह और नरेंद्र मोदी सिर्फ दो आदमी मिलकर पार्टी चला रहे हैं. हमारी पार्टी में सबसे विचार विमर्श करके निर्णय लिया जाता है. इसलिए विपक्षी दलों का यह आरोप गलत है.

वरिष्ठ नेताओं का टिकट 



वरिष्ठ नेताओं के टिकट के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि लालकृष्ण आडवाणी ने टिकट लेने से इनकार कर दिया, उन्होंने कहा कि उम्र उन्हें चुनाव लड़ने की इजाजत नहीं देती. सुषमा स्वराज ने स्वास्थ्य के कारण चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया, जबकि उमा भारती ने पार्टी संगठन में काम करने की इच्छा व्यक्त की है, इसलिए उन्हें लोकसभा का उम्मीदवार नहीं बनाया गया.

पूरी दुनिया की है हम पर नजर 

आगामी चुनाव विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र का चुनाव है. पूरी दुनिया की नजर हम पर टिकी हुई है इस लिए सभी दलों को इस तरह शांति और सादगी से चुनाव लड़ना है कि दुनिया में अच्छा संदेश जाए.

विधानसभा चुनावों के परिणाम का असर  

हाल में हुए विधानसभा चुनावों में मिली हार का लोकसभा चुनाव पर असर को लेकर गडकरी ने कहा कि इस दौरान हमने जो बजट पेश किया, वह जनता का बजट है और मेरा मानना है कि जनता विकास का समर्थन करेगी. लिहाजा, विधानसभा चुनाव के नतीजों का इस लोकसभा चुनाव पर कोई असर नहीं पड़ेगा.विदर्भ का मुद्दा

हमारी सरकार पिछले कई वर्षों में विदर्भ में किसानों की आत्महत्या की समस्या को हल करने की कोशिश कर रही है. हमने सिंचाई की सुविधाओं में वृद्धि की है. भविष्य में और करेंगे. इसलिए विपक्ष के आरोपों में कोई सच्चाई नहीं है.

नए आइडियाज पर काम 

गडकरी ने कहा कि मैंने कई नए आइडियाज रखा है. मैंने अपने आइडियाज को जमीन पर उतारने की कोशिश की है, मेरे पास यूरिन बैंक या गंदे पानी के बारे में कुछ आइडियाज हैं, लोग मुझ पर हंसते हैं लेकिन आज वही गंदा पानी नागपुर नगर निगम को 100 करोड़ से अधिक दे रहा है, इसलिए मैं इसके कई उदाहरण दे सकता हूं ,जो यथार्थवादी हैं.

केंद्रीय चुनाव समिति के निर्णय का सम्मान 

मैं एयर स्ट्राइक के मुद्दे का राजनीतिकरण नहीं करना चाहता, इसलिए मैं इस मामले पर बहुत ज्यादा बात नहीं करने जा रहा हूं. महाराष्ट्र में कई सांसदों को फिर से चुनाव लड़ने का मौका दिया गया है. हमारी तरफ से लोगों का विश्वास महत्वपूर्ण है. कुछ लोगों के टिकट की मांग को खारिज कर दिया है और केंद्रीय चुनाव समिति ने इस बारे में ज्यादा कुछ नहीं कहने का फैसला किया है. मैं केंद्रीय चुनाव समिति की ओर से लिए गए फैसले के बारे में ज्यादा नहीं कहूंगा. उसका सम्मान करता हूं.

पूरा करना है पर्रिकर का सपना

गोवा के दिवंगत मुख्यमंत्री के बारे में गडकरी ने कहा कि मनोहर पर्रिकर का जाना पार्टी के साथ-साथ गोवा के लिए भी बहुत बड़ी क्षति है. मैंने व्यक्तिगत तौर पर पर्रिकर के सपने को देखा है. गोवा का विकास देश के लोगों के लिए आदर्श होगा. मुझे विश्वास है कि अब मुख्यमंत्री सावंत इस सपने को पूरा करेंगे. मैं सावंत से आज ही मिला हूं और मैंने उन्हें पर्रिकर के सपने को पूरा करने के बारे में समझाया है.

सपा और बसपा से नहीं होंगे परिणाम प्रभावित 
गडकरी ने कहा कि समाजवादी पार्टी और बहुजन समाजवादी पार्टी से लोकसभा चुनाव में बहुत परिणाम प्रभावित नहीं होंगे, क्योंकि जनता हमारे पीछे है और हमें एक बार फिर से सत्तारूढ़ होने का दृढ़ विश्वास है.

(रिपोर्ट- प्रशांत लीला रामदास)

ये भी पढ़ें-
लोकसभा चुनाव: शिवसेना ने घोषित की 21 उम्मीदवारों की लिस्ट

कांग्रेस की छठी लिस्ट जारी, महाराष्ट्र से 7 और केरल से उतारे दो उम्मीदवार

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
hyperlink >> https://hindi.news18.com/whatsapp-subscription.html?utm_source=webhp
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

News18 चुनाव टूलबार

चुनाव टूलबार