लाइव टीवी

उद्धव सरकार पर फडणवीस ने साधा निशाना, पूछा- पहली बैठक में बहुमत साबित करने पर चर्चा क्यों की?

भाषा
Updated: November 29, 2019, 10:51 PM IST
उद्धव सरकार पर फडणवीस ने साधा निशाना, पूछा- पहली बैठक में बहुमत साबित करने पर चर्चा क्यों की?
देवेंद्र फडणवीस ने महाराष्ट्र विकास आघाडी से पूछा कि, ‘ जब बहुमत नहीं था तो फिर आंकड़े होने का दावा ही क्यों किया था?’

पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने आरोप लगाया कि शिवसेना (Shiv Sena)-एनसीपी-कांग्रेस गठबंधन की सरकार को अपने विधायकों पर भरोसा ही नहीं है. उन्होंने दावा किया कि विधायकों को अब भी ‘बंधक’ बनाकर रखा गया है.

  • भाषा
  • Last Updated: November 29, 2019, 10:51 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने महाराष्ट्र की नवगठित उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) सरकार पर शुक्रवार को निशाना साधा. फडणवीस ने कहा कि मंत्रिमंडल की पहली बैठक में उसने किसानों को राहत देने पर चर्चा करने के बजाय बहुमत साबित करने पर चर्चा करना जरूरी समझा. उन्होंने कहा कि अगर बहुमत नहीं था तो दावा क्यों किया.

खुद के विधायकों पर इतना अविश्वास क्यों?
महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य की जनता जानना चाहती है कि शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस का महाराष्ट्र विकास आघाडी गठबंधन विधानसभा में बहुमत होने का दावा करने के बाद अब डरा हुआ क्यों है? फडणवीस ने पूछा कि अगर उनके पास पर्याप्त आंकड़े हैं तो उन्होंने नियमों को ताक पर रखकर विधानसभा के कार्यवाहक अध्यक्ष को बदलने की कोशिश क्यों की. खुद के विधायकों पर इतना अविश्वास क्यों?

किसानों की मदद के बजाय बहुमत कैसे साबित करें पर की गई चर्चा

अभी भाजपा विधायक कालीदास कोलांबकर कार्यवाहक अध्यक्ष हैं. ठाकरे ने गुरुवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ ग्रहण करने के कुछ घंटों बाद रात में मंत्रिमंडल की पहली बैठक ली थी. फडणवीस ने ट्वीट किया, ‘नई सरकार ने मंत्रिमंडल की पहली बैठक में परेशान किसानों की मदद कैसे की जाए, इस पर विचार करने के बजाय बहुमत कैसे साबित करें इस पर चर्चा की.’

गुपचुप तरीके से विधानसभा सत्र बुलाने की कोशिश क्यों?
देवेंद्र फडणवीस ने गठबंधन सरकार को टारगेट करते हुए पूछा कि, ‘जब बहुमत नहीं था तो फिर आंकड़े होने का दावा ही क्यों किया था?’ उन्होंने कहा कि शिवसेना नीत सरकार के पास अगर बहुमत है तो इसे साबित करने के लिए वह गुपचुप तरीके से विधानसभा सत्र बुलाने की कोशिश क्यों कर रही है? महाराष्ट्र विकास आघाडी सरकार लगातार यह दावा कर रही है कि 288 सदस्यीय विधानसभा में उसके पास बहुमत के लिए आवश्यक 145 से अधिक विधायकों का समर्थन है.
Loading...

ये भी पढ़ें - 

CM बनते ही उद्धव ठाकरे का बड़ा फैसला, आरे कॉलोनी मेट्रो शेड के काम पर लगाई रोक

‘एक्स्ट्रा कांस्टीट्यूशनल अथॉरिटी’ के रूप में काम कर रहा है RSS: अशोक गहलोत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 29, 2019, 6:42 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...