पति की संपत्ति नहीं है पत्नी, मध्यकालीन मान्यताएं अब भी बनी हुईं: बॉम्बे HC

एक याचिका पर सुनवाई के दौरान कोर्ट ने यह बात कही है. (फाइल फोटो)

एक याचिका पर सुनवाई के दौरान कोर्ट ने यह बात कही है. (फाइल फोटो)

जस्टिस रेवती मोहिते (Justice Revati Mohite-Dere) ने कहा कि पत्नी कोई वस्तु या संपत्ति नहीं है. इस तरह के मामले लैंगिक असमानता और पितृसत्ता के विषम स्वरूप को स्पष्ट रूप से दर्शाते हैं. ऐसे मामले उस मध्याकालीन पूर्वाग्रह को दर्शाते हैं जिसके मुताबिक पत्नी को संपत्ति की तरह माना जाता था और पति उसके साथ कुछ भी कर सकता था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 24, 2021, 10:30 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र में एक मर्डर केस से संबंधित एक याचिका पर सुनवाई करते हुए बॉम्बे हाईकोर्ट (Bombay High Court) ने कहा है कि पत्नी को वस्तु या संपत्ति समझने की मध्यकालीन मान्यता (medieval notion) अब भी बसी हुई है. दरअसल राज्य के पंधारपुर इलाके एक व्यक्ति ने ये याचिका दायर की थी. उस व्यक्ति ने हथौड़े से मारकर अपनी पत्नी हत्या कर दी थी. इस मामले में उसे सजा हो गई है. उसे साल 2016 में दस साल के सश्रम कारावास की सजा हुई थी. अब उसने मुंबई हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी कि उसकी सजा कम की जाए.

मामले पर सुनवाई करते हुए जस्टिस रेवती मोहिते ने कहा कि पत्नी कोई वस्तु या संपत्ति नहीं है. इस तरह के मामले लैंगिक असमानता और पितृसत्ता के विषम स्वरूप को स्पष्ट रूप से दर्शाते हैं. ऐसे मामले उस मध्यकालीन पूर्वाग्रह को दर्शाते हैं जिसके मुताबिक पत्नी को संपत्ति की तरह माना जाता था और पति उसके साथ कुछ भी कर सकता था.

याचिकाकर्ता को अपनी पत्नी पर शक रहता था, इसी वजह से कर दी थी हत्या
पुलिस के मुताबिक ये मामला 2013 का है. याचिकाकर्ता को अपनी पत्नी पर शक रहता था और इसी वजह से दोनों के बीच अक्सर झगड़े होते थे. इसी क्रम में उस व्यक्ति ने अपनी पत्नी पर हथौड़े से हमला कर दिया था जिससे बाद में उसकी मौत हो गई थी. इस पूरे मामले में गवाह दोनों की बच्ची थी.
हाईकोर्ट ने खारिज की सजा कम करने की याचिका


अब हाईकोर्ट में याचिका पर सुनवाई के दौरान व्यक्ति के वकील ने कहा कि पुलिस केस एक कमजोर सबूत पर आधारित था. साथ ही बच्ची की गवाही को मानने से निचली अदालत ने इंकार कर दिया था. वह व्यक्ति लंबी सजा जेल में काट चुका है. ऐसे में सजा कम की जानी चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज