लाइव टीवी

Maharashtra Assembly Exit Poll 2019: वर्ली में आदित्य ठाकरे को मिलेगी आसान जीत या फंसेगी सीट

News18Hindi
Updated: October 21, 2019, 8:58 PM IST
Maharashtra Assembly Exit Poll 2019: वर्ली में आदित्य ठाकरे को मिलेगी आसान जीत या फंसेगी सीट
आदित्य ठाकरे परिवार के पहले सदस्य हैं जो चुनावी मैदान में हैं.

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव (Maharashtra Assembly election) में सबसे चर्चित चेहरा उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे (Aditya Thackeray) हैं. वर्ली सीट से उनके चुनावी नतीजे पर सबकी निगाहें रहेंगी. न्यूज़ 18-IPSOS के एग्जिट पोल के मुताबिक वह इस सीट से जीत हासिल कर सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 21, 2019, 8:58 PM IST
  • Share this:
वर्ली: महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव (Maharashtra Assembly election) में इस बार सबसे ज्यादा चर्चित नाम उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) के बेटे आदित्य ठाकरे (Aditya Thackeray) का नाम रहा. ठाकरे परिवार का कोई सदस्य पहली बार चुनावी मैदान में है. आदित्य ठाकरे मुंबई की वर्ली सीट पर चुनावी मैदान में हैं. इस सीट पर वह जीत हासिल कर सकते हैं. न्यूज़ 18-IPSOS के एग्जिट पोल (Exit Poll) के मुताबिक, वह इस सीट से जीत हासिल कर सकते हैं. वह बीजेपी शिवसेना के संयुक्त उम्मीदवार हैं. राज ठाकरे की एमएनएस ने उनके सामने कोई भी उम्मीदवार नहीं उतारा है. ऐसे में उनकी जीत आसान मानी जा रही है.

शिवसेना उन्हें मुख्यमंत्री या उपमुख्यमंत्री पद का दावेदार बता रही है. हालांकि महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में इस बार शिवसेना छोटे भाई की भूमिका में है. बीजेपी जहां 163 सीटों पर चुनाव लड़ रही है तो शिवसेना 124 सीटों पर ही चुनाव लड़ रही है. पिछले चुनाव यानी 2014 विधानसभा में बीजेपी ने 122 सीटें जीतकर सबसे बड़ी पार्टी बनने का रुतबा हासिल किया था.

आदित्य ठाकरे की सीट वर्ली पर सबकी निगाहें रहेंगी. इस सीट पर वह कितने अंतर से जीत हासिल करते हैं, ये भी देखने वाली बात होगी. वह ठाकरे परिवार के पहले सदस्य हैं जो चुनाव लड़ रहे हैं. उनकी उम्र मात्र 29 साल है, ऐसे में शिवसेना ने उन्हें चुनाव मैदान में उतारकर भविष्य का दांव खेला है. यही कारण है कि उद्धव ठाकरे ने ये बयान दिया था कि वह एक दिन मुख्यमंत्री की कुर्सी पर किसी शिवसैनिक को बिठाएंगे.

मुंबई की वर्ली कोलीवाला विधानसभा क्षेत्र से आदित्‍य ठाकरे की जीत होगी या हार, इस पर शायद ही कोई बहस है. मछुआरों (कोली) का यह क्षेत्र परंपरागत रूप से शिवसेना का गढ़ रहा है और ये मराठी मछुआरे ही मूल रूप से मुंबई के रहे हैं.

ये भी पढ़ें- 

महाराष्ट्र News 18-IPSOS Exit Poll Results 2019: BJP-शिवसेना भारी बहुमत से फिर बनाएंगे सरकार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 21, 2019, 7:39 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...