मुंगेर गोलीबारी कांड पर संजय राउत बोले- यह हिंदुत्व पर हमला, राज्यपाल और बीजेपी नेता क्यों नहीं उठा रहे सवाल?

संजय राउत
संजय राउत

बिहार के मुंगेर (Munger) जिले में सोमवार रात देवी दुर्गा की मूर्ति विर्सजन को लेकर झड़प के दौरान कथित तौर पर हुई पुलिस की गोलीबारी में एक युवक की मौत के मामले में SP कार्यालय सहित शहर में अन्य स्थानों पर तोड़फोड़ की गई और वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 30, 2020, 11:36 AM IST
  • Share this:
मुंबई. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Eelection 2020) के पहले चरण के मतदान के एक दिन पहले मुंगेर जिले (Munger Case) के कोतवाली थाना अंतर्गत दीनदयाल उपाध्याय चौक पर सोमवार देर रात देवी दुर्गा की मूर्ति विसर्जन के दौरान हुई गोलीबारी और पथराव में एक व्यक्ति की मौत हो गई थी और दो दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए थे. स्थानीय लोगों का आरोप है कि पुलिस द्वारा की गयी गोलीबारी में 20 साल के युवक की मौत हो गयी थी.

इस घटना क्रम पर शिवसेना नेता और राज्यसभा सांसद संजय राउत ने कहा है, 'यह हिंदुत्व पर हमला है.' राउत ने कहा, 'मुंगेर गोलीबारी की घटना हिंदुत्व पर हमला है. यदि ऐसी घटना महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल या राजस्थान में होती थी, तो राज्यपाल और भाजपा नेता राष्ट्रपति शासन की मांग करते. तो बिहार के राज्यपाल और भाजपा नेता सवाल क्यों नहीं उठा रहे हैं?'

 सात दिनों में रिपोर्ट देने का निर्देश
वहीं प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार दुर्गा की मूर्ति विसर्जन के लिए जाने के दौरान मूर्ति को ले जाने के बांस से बने वाहक के टूट जाने के बाद दिक्कत शुरू हो गई थी और इसे ठीक करने में समय लग रहा था. मूर्ति को ले जाने वाले वाहक की मरम्मत में हुई देरी के कारण अन्य मूर्ति जुलूस रास्ते में फंसे हुए थे.
प्रशासन चाहता था कि जुलूस जल्दी से जल्दी निकले क्योंकि सुरक्षाकर्मियों को बुधवार को चुनाव ड्यूटी पर तैनात किया जाना था. इस घटना के बाद जिले में तनाव बढ़ गया है और स्थिति को नियंत्रण में रखने के लिए भारी पुलिस बल की तैनाती की गयी है.



इस बीच निर्वाचन आयोग ने मुंगेर के जिलाधिकारी राजेश मीणा और पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह को तत्काल हटाने का आदेश दिया है और मगध प्रमंडल के आयुक्त असंगबा चुबा एओ को पूरे मामले की जांच करने के लिए कहा है.

अपर निर्वाचन अधिकारी संजय कुमार सिंह ने बताया कि मौजूदा स्थिति के मद्देनजर निर्वाचन आयोग ने इन दोनों अधिकारियों को तत्काल हटाने का आदेश दिया है. उन्होंने बताया कि आयोग ने मगध प्रमंडल के आयुक्त असंगबा चुबा एओ को पूरी घटना की जांच कर अगले सात दिनों में रिपोर्ट देने का निर्देश दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज