होम /न्यूज /महाराष्ट्र /कांग्रेस डूबता जहाज, आजाद ने इस्तीफे के साथ वाजिब मुद्दे उठाए: देवेंद्र फडणवीस

कांग्रेस डूबता जहाज, आजाद ने इस्तीफे के साथ वाजिब मुद्दे उठाए: देवेंद्र फडणवीस

महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस. (File Photo)

महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस. (File Photo)

महाराष्ट्र (Maharashtra) के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने शनिवार को कहा कि कांग्रेस (Congress) ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

डिप्‍टी सीएम देवेंद्र फडणवीस ने कांग्रेस पर साधा निशाना
कहा- कांग्रेस डूबता जहाज, अब उसे बचाना मुश्किल
कांग्रेस का अंदरूनी मामले पर टिप्‍पणी नहीं करूंगा

नागपुर.  महाराष्ट्र  (Maharashtra) के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने शनिवार को कहा कि कांग्रेस (Congress) ‘डूबता जहाज’ है और गुलाम नबी आजाद ने पार्टी से इस्तीफा देने के दौरान वाजिब मुद्दे उठाए. उल्लेखनीय है कि आजाद ने प्राथमिक सदस्यता सहित पार्टी के सभी पदों से इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को ‘अपरिपक्व’ और ‘बचकाना’ शख्स करार दिया है. उन्होंने पार्टी नेतृत्व पर आरोप लगाया है कि उसने शीर्ष पद पर ‘गैर गंभीर व्यक्ति को थोपा’ है. फडणवीस ने नागपुर हवाई अड्डे पर संवाददाताओं से कहा कि कांग्रेस डूबता जहाज है और जो लोग सोचते हैं कि इस जहाज को बचाया नहीं जा सकता वे अलग फैसले ले रहे हैं.

भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के वरिष्ठ नेता फडणवीस ने कहा, ‘मेरा मानना है कि आजाद द्वारा उठाए गए कुछ सवाल वाजिब हैं. हालांकि, यह उनका अंदरुनी मामला है और मैं उनपर टिप्पणी नहीं करूंगा.’ गौरतलब है कि 73 वर्षीय आजाद गत पांच दशक से कांग्रेस से जुड़े हुए थे. उन्होंने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी पर पार्टी से लेकर ‘पिछली संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार की संस्थागत पवित्रता तक खंडित करने के लिए रिमोट कंट्रोल मॉडल’ का कथित इस्तेमाल करने को लेकर सियासी हमला किया.


नियम-कायदे से कार्यक्रम होता है, वह होगा

शिवसेना द्वारा मराठा संगठन संभाजी ब्रिगेड के साथ हाथ मिलाने के फैसले पर फडणवीस ने कहा कि जब किसी का विनाश या पतन का समय आता है तो वह बुद्धिमानी से सोचने में असफल होता है. दशहरा करीब आने वाला है और इसके मद्देनजर शिवसेना के दोनों गुट (उद्धव ठाकरे नीत और एकनाथ शिंदे नीत) वार्षिक दशहरा रैली की अनुमति चाहते हैं. जब फडणवीस से पूछा गया कि क्या शिवसेना के दोनों प्रतिद्वंद्वी गुटों को मुंबई में रैली की अनुमति दी जाएगी, तो राज्य के गृह विभाग का भी प्रभार संभाल रहे भाजपा नेता ने कहा कि ‘जो भी नियम-कायदे से कार्यक्रम होता है वह होगा और नियम-कायदे का उल्लंघन करने वाले कार्यक्रम इस सरकार के रहते नहीं होंगे.’ उल्लेखनीय है कि शिवसेना पारंपरिक रूप से मुंबई के दादर इलाके स्थित शिवाजी पार्क में दशहरा रैली का आयोजन करती है.

Tags: Congress, Devendra Fadnavis, Maharashtra

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें