सुशांत केस: NCB ने फाइल की 30 हजार पन्ने की चार्जशीट, रिया चक्रवर्ती-शोविक मुख्य आरोपी

रिया चक्रवर्ती हैं NCB की चार्जशीट में मुख्य आरोपी हैं

रिया चक्रवर्ती हैं NCB की चार्जशीट में मुख्य आरोपी हैं

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (sushant singh rajput) बांद्रा के फ्लैट में मृत पाये गये थे. शुरुआत में इस मामले को सिर्फ आत्महत्या ही माना गया हालांकि सुशांत के परिजनों की शिकायत के बाद इस मामले में सीबीआई भी शामिल हुई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 5, 2021, 12:43 PM IST
  • Share this:
मुंबई. सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में ड्रग्स एंगल की जांच करने वाले नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने शुक्रवार को मुंबई की NDPS कोर्ट में चार्जशीट फाइल की है. 30 हजार पेज की चार्जशीट में दीपिका पादुकोण, सारा अली खान और श्रद्धा कपूर का बयान भी जोड़ा गया है. पांच आरोपी फरार बताए गए हैं, जबकि रिया चक्रवर्ती और उनका भाई शोविक चक्रवर्ती मुख्य आरोपी हैं.

इसके अलावा रिया के करीबियों और कई ड्रग्स पैडलर सप्लायर का नाम भी चार्जशीट में आरोपी के तौर पर शामिल है. ड्रग्स बरामदगी बरामद इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों की रिपोर्ट फोरेंसिक रिपोर्ट गवाहों के बयान के आधार पर यह चार्जशीट तैयार की गई है.

NCB के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े यह चार्जशीट कोर्ट लेकर पहुचेंगे. NCB सूत्रों के मुताबिक इस मुख्य चार्जशीट के तीन महीने के बाद NCB एक सप्लीमेंट्री चार्जशीट भी कोर्ट में पेश कर सकती है. जिसमें सारा अली खान, श्रद्धा कपूर का नाम शामिल हो सकता है. इनके खिलाफ भी NCB को कई सबूत मिले थे जिसकी जांच अभी भी जारी है. बता दें यह चार्जशीट 16/ 2020 कम्पलेंट केस मामले में दाखिल हो रही है.



बीते साल जून में हुआ सुशांत का निधन
गौरतलब है कि बीते साल जून में अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत, मुंबई के बांद्रा स्थित फ्लैट में मृत पाये गये थे. शुरुआत में इस मामले को सिर्फ आत्महत्या ही माना गया. हालांकि सुशांत के परिजनों की शिकायत के बाद इस मामले में सीबीआई भी शामिल हुई. इतना ही नहीं बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने खासतौर से जांच के लिए बिहार पुलिस की टीम मुंबई भेजी थी.

इस मामले में ड्रग्स का एंगल आने के बाद कई अभिनेता और अभिनेत्रियों तक एनसीबी का शिकंजा पहुंचा. रिया चक्रवर्ती, उनके भाई शौविक चक्रवर्ती समेत कई लोगों को जेल हुई. इस मामले में जिन ड्रग पैडलर्स का नाम आया था, उनमें से कई अभी भी सलाखों के पीछे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज