NIA को वाजे के घर से मिले दस्तावेज, पुलिस अधिकारियों से हो सकती है पूछताछ

मुंबई पुलिस अफसर सचिन वाजे की भूमिका की जांच हो रही है. (File pic)

मुंबई पुलिस अफसर सचिन वाजे की भूमिका की जांच हो रही है. (File pic)

Sachin Waje Case: मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि एनआईए जॉइंट पुलिस कमिश्नर मिलिंद भारंबे (Milind Bharambe) और डिप्टी पुलिस कमिश्नर प्रकाश जाधव से भी पूछताछ करेगी. एनआईए इस तथ्य को जानना चाहती है कि वाजे के पास स्कॉर्पियो की जांच कैसे पहुंची.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 18, 2021, 9:41 PM IST
  • Share this:
मुंबई. मुंबई (Mumbai) के मशहूर बंगले एंटीलिया के पास मिले विस्फोटक मामले में नेशनल इन्वेस्टिगेशन ब्यूरो (NIA) ने जांच तेज कर दी है. एनआईए बुधवार को मुंबई क्राइम इन्वेस्टिगेशन यूनिट के पूर्व प्रभारी सचिन वाजे (Sachin Waje) को लेकर ठाणे पहुंची. यहां एजेंसी ने क्राइम सीन को रिक्रिएट किया. साथ ही वाजे के घर की तलाशी ली गई है. खबर है कि जल्द ही मुंबई पुलिस के कई अन्य अधिकारियों से भी मामले को लेकर पूछताछ हो सकती है.

वाजे की घर की जांच के दौरान टीम को कई कागजात मिले हैं. इस दौरान एजेंसी ने सोसाइटी में दूसरे रहवासियों से पूछताछ की. मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि एनआईए जॉइंट पुलिस कमिश्नर मिलिंद भारंबे और डिप्टी पुलिस कमिश्नर प्रकाश जाधव से भी पूछताछ करेगी. बताया जा रहा है कि एनआईए इस तथ्य को जानना चाहती है कि वाजे के पास स्कॉर्पियो की जांच कैसे पहुंची. किस अधिकारी के कहने पर उन्हें मामले की जांच सौंपी गई थी.

Youtube Video




यह भी पढ़ें: NIA का दावा- सचिन वाजे ने पहचान छिपाने के लिए कुर्ता, रुमाल और बडे़ मास्क का किया इस्तेमाल
यह सवाल उठता दिख रहा है कि वाजे का ज्यूरिडिक्शन नहीं होने के बाद भी उन्हें यह मामला क्यों दिया गया था. मीडिया रिपोर्ट्स में सूत्रों के हवाले से कहा जा रहा है कि हाल ही में मुंबई पुलिस आयुक्त के पद से हटाए गए परमबीर सिंह के कहने पर वाजे को यह मामला सौंपा गया था. ऐसे में एजेंसी जल्द ही सिंह से भी पूछताछ कर सकती है. तीनों अधिकारियों के बयानों को काफी जरूरी माना जा रहा है.

बीती 25 फरवरी को दक्षिण मुंबई के पैडर रोड पर एंटीलिया के पास एक गाड़ी मिली थी. यह स्कॉर्पियो विस्फोटकों से भरी हुई थी. जब पुलिस की नजर इस गाड़ी पर पड़ी, तो जांच शुरू की गई. बाद में इस गाड़ी से जिलेटिन की 20 रॉड बरामद हुई थीं. खास बात है कि 5 मार्च को स्कॉर्पियो गाड़ी के मालिक मनसुख हिरन का शव मिला. हालांकि, हिरन ने कुछ दिनों पहले गाड़ी गायब होने की शिकायत दर्ज कराई थी. ऐसे में महाराष्ट्र ATS ने हिरन की हत्या का मामला दर्ज किया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज