आज गवर्नर से मिलने वाले थे CM उद्धव ठाकरे, जानें किस दिशा में बढ़ रही महाराष्ट्र की राजनीति?

सीएम उद्धव ठाकरे इस वक्त बीजेपी के आरोपों से घिरे हुए हैं. (तस्वीर- UddhavBalasahebThackeray facbook)

सीएम उद्धव ठाकरे इस वक्त बीजेपी के आरोपों से घिरे हुए हैं. (तस्वीर- UddhavBalasahebThackeray facbook)

कोरोना के जबरदस्त संकट से जूझ रहे महाराष्ट्र के मुख्यंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) तबसे और बड़ी मुश्किल में पड़ गए हैं जबसे मुंबई के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह (Parambir Singh) ने लेटर बम फोड़ा. उन्होंने राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख पर गंभीर आरोप लगाए हैं. अब अनिल देशमुख ने भी सीएम उद्धव से कहा है कि उनके खिलाफ लगाए गए आरोपों की जांच की जाए. सबकी निगाहें इस बात पर हैं कि उद्धव अगला कदम क्या उठाएंगे?

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 25, 2021, 7:30 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) इस वक्त विपक्षी बीजेपी के आरोपों से घिरे हुए हैं. बीजेपी लगातार सीएम उद्धव पर 'चुप्पी' साधे रखने का आरोप लगा रही है. इस बीच बुधवार रात राज्य कांग्रेस के अध्यक्ष नाना पटोले (Nana Patole) ने कहा-'हम कल (गुरुवार) को गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी (Bhagat Singh Koshyari) से मुलाकात करेंगे.' पटोले ने कहा कि सीएम उद्धव की अगुवाई में सत्ताधारी गठबंधन की तीनों पार्टियों के नेता गवर्नर से मुलाकात करेंगे. लेकिन उनके बयान के कुछ ही देर बाद महाराष्ट्र राजभवन से खबर आई कि मुलाकात का कोई अपॉइंटमेंट नहीं लिया गया है. राजभवन की तरफ से ये भी साफ किया गया कि गवर्नर गुरुवार यानी आज मुंबई शहर में नहीं हैं. अब सीएम उद्धव का अगला कदम क्या होगा, इसे लेकर सबकी निगाहें बनी हुई हैं.

हालांकि उद्धव ठाकरे को सहयोगी दलों की तरफ से खुलकर समर्थन मिल रहा है. इसका प्रमाण राज्य के अल्पसंख्यक विकास मंत्री और एनसीपी नेता नवाब मलिक के बयान से मिला. उन्होंने कहा है कि मुख्यमंत्री सही समय पर बोलेंगे. उन्हें हर मुद्दे पर बोलने की जरूरत नहीं है. भाजपा के आरोप आधारहीन हैं.’ उन्होंने विभिन्न मुद्दों पर बीजेपी द्वारा शिवसेना नीत सरकार पर लगाए गए आरोपों को भी ‘आधारहीन’ करार दिया.

Youtube Video


इस बीच बीजेपी के नेता गवर्नर भगत सिंह कोश्योरी से मिले. बीजेपी प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल से अनुरोध किया है कि वह राज्य सरकार से मौजूदा स्थिति पर रिपोर्ट तलब करें और इसे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को भेजें. वरिष्ठ बीजेपी नेता एवं राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने विभिन्न मुद्दों पर ठाकरे की कथित चुप्पी को लेकर सवाल उठाया था.
'ऐसे नहीं लगाया जा सकता राष्ट्रपति शासन' 

इस पर नवाब मलिक ने कहा कि बीजेपी को समझना चाहिए कि राष्ट्रपति शासन ‘ऐसे ही नहीं लगाया’ जा सकता. मलिक ने कहा कि शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस को मिलाकर बने महा विकास अघाड़ी को 288 सदस्यीय विधानसभा में 175 से अधिक विधायकों का समर्थन हासिल है.

कोरोना के जबरदस्त संकट से जूझ रहे महाराष्ट्र के मुख्यंत्री उद्धव ठाकरे तबसे और बड़ी मुश्किल में पड़ गए हैं जबसे मुंबई के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह ने लेटर बम फोड़ा. उन्होंने राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख पर गंभीर आरोप लगाए हैं. अब अनिल देशमुख ने भी सीएम उद्धव से कहा है कि उनके खिलाफ लगाए गए आरोपों की जांच की जाए. महाराष्ट्र की राजनीति को नजदीक से देख रहे लोग अब सीएम उद्धव के अगले कदम का इंतजार कर रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज