लाइव टीवी

महाराष्ट्र में हफ्ते भर बाद भी बिना काम के हैं उद्धव के मंत्री, BJP ने साधा निशाना

News18Hindi
Updated: December 5, 2019, 11:08 PM IST
महाराष्ट्र में हफ्ते भर बाद भी बिना काम के हैं उद्धव के मंत्री, BJP ने साधा निशाना
शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने 28 नवंबर को मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली थी. photo.PTI

महाराष्‍ट्र (Maharashtra) में गठबंधन सरकार में शिवसेना (Shiv sena) के मुख्यमंत्री समेत 16 मंत्री होंगे जबकि राकांपा के उपमुख्यमंत्री समेत 15 मंत्री होंगे, वहीं कांग्रेस को 12 मंत्री पद मिलेंगे. साथ में विधानसभा अध्यक्ष भी उसका होगा. लेकिन अब तक सरकार में मंत्रियों के विभाग नहीं बांंटे जा सके हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 5, 2019, 11:08 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) नीत महाराष्ट्र विकास आघाडी (एमवीपी) सरकार के शपथ ग्रहण के हफ्ते भर बाद भी मंत्रियों को विभाग आवंटित नहीं करने पर विपक्षी भाजपा (BJP) ने सत्तारूढ़ गठबंधन की आलोचना की है. भाजपा नेता आशीष शेलार (Ashish Shelar) ने छह मंत्रियों को विभाग आवंटित करने में नाकाम रहने के लिए ठाकरे नीत सरकार की गुरुवार को आलोचना की. शिवसेना, कांग्रेस और राकांपा ने मिलकर एमवीए गठबंधन (Maharashtra Vikas Aghadi) बनाकर सरकार गठित की है, जिसने पिछले महीने के आखिर में शपथ ली. मंत्रियों को अब तक विभाग आवंटित नहीं किए गए हैं.

दो मंत्रियों ने कहा कि एक-दो दिन में विभाग आंवटित कर दिए जाएंगे. शेलार ने कहा, ‘एमवीए ने सरकार बनाने के समय निर्दलियों से वादा किया था, लेकिन शपथ ग्रहण समारोह के आठ दिन बाद भी, एक भी मंत्री को विभाग आवंटित नहीं किया गया है.’उन्होंने दावा किया कि एमवीए में शामिल तीनों पार्टियों के विधायकों में ‘बहुत असंतोष’ है. शिवसेना (Shiv Sena) प्रमुख उद्धव ठाकरे ने 28 नवंबर को मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली थी.

कई बैठकों के बाद भी कोई नतीजा नहीं
ठाकरे के साथ ही, शिवसेना से एकनाथ शिंदे, सुभाष देसाई, राकांपा से जयंत पाटिल और छगन भुजबल और कांग्रेस से बालासाहेब थोराट और नितिन राउत ने शपथ ली, लेकिन अब तक किसी को भी विभाग आवंटित नहीं किए गए हैं. एक सूत्र ने बताया कि छह मंत्रियों को जल्द की विभाग आवंटित किए जा सकते हैं. सूत्रों के मुताबिक, विभाग आवंटन पर चर्चा करने के लिए कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के नेताओं की इस हफ्ते के शुरू में दिल्ली में बैठक हुई थी. एक सूत्र ने बताया, ‘इस बैठक में राकांपा प्रमुख शरद पवार एवं प्रफुल्ल पटेल, कांग्रेस नेता अहमद पटेल, बालासाहेब थोराट, अशोक चव्हाण और नितिन राउत शामिल हुए थे. अंतिम फैसला लेने के बाद कोई निर्णय किया जाएगा.’

शिवसेना के होंगे 16 मंत्री
एमवीए के बीच समझौते के तहत, शिवसेना के मुख्यमंत्री समेत 16 मंत्री होंगे जबकि राकांपा के उपमुख्यमंत्री समेत 15 मंत्री होंगे, वहीं कांग्रेस को 12 मंत्री पद मिलेंगे. साथ में विधानसभा अध्यक्ष भी उसका होगा. राज्य सरकार के मंत्रि-परिषद में 43 सदस्य हो सकते हैं, जो 288 सदस्यीय विधानसभा का 15 फीसदी है. सूत्रों के मुताबिक, राकांपा नेता अजित पवार की नजरें उपमुख्यमंत्री पद पर हैं.उन्होंने पार्टी में बगावत करके भाजपा से हाथ मिला लिया था और देवेंद्र फडणवीस की अगुवाई में बनी कुछ दिनों की सरकार में उपमुख्यमंत्री बन गए थे. बाद में वह राकांपा में लौट आए थे.

कौन बनेगा डिप्‍टी सीएम?उन्होंने बताया कि राकांपा प्रमुख शरद पवार जयंत पाटिल को उपमुख्यमंत्री पद का वादा कर चुके हैं. विधानसभा के शीत सत्र के बाद मंत्रि-परिषद का विस्तार हो सकता है. यह सत्र 16 से 21 दिसंबर के बीच नागपुर में होगा. इस बीच प्रदेश कांग्रेस प्रमुख थोराट ने कहा कि मंत्रालयों के आवंटन पर बातचीत चल रही है. एक-दो दिन में विभागों पर निर्णय कर लिया जाएगा. वहीं राकांपा के प्रदेश प्रमुख और मंत्री पाटिल ने भी कहा कि एक दो दिन में विभागों का आवंटन कर लिया जाएगा.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 5, 2019, 10:35 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर