अपना शहर चुनें

States

बढ़ते कोरोना के कारण मुंबई में लोकल ट्रेनों पर लग जाएगा ब्रेक? जानें रेलवे ने क्या कहा

महाराष्ट्र में 1 फरवरी से लोकल ट्रेन की सेवाएं शुरू हुई हैं. (फोटो साभार-PTI)
महाराष्ट्र में 1 फरवरी से लोकल ट्रेन की सेवाएं शुरू हुई हैं. (फोटो साभार-PTI)

Covid-19 in Maharashtra: पश्चिमी रेलवे के सीपीआरओ सुमित ठाकुर ने कहा है कि हमने कोविड-19 को फैलने से रोकने के लिए सभी एहतियात बरते हैं और पश्चिमी रेलवे सभी जरूरी कदम उठा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 23, 2021, 10:04 PM IST
  • Share this:
(मिहिर त्रिवेदी)

मुंबई. महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों (Mumbai Coronavirus Cases) की एक वजह 1 फरवरी से आम लोगों के लिए खुल चुकीं लोकल ट्रेनों (Local Trains) को बताया जा रहा है. हालांकि मध्य और पश्चिमी रेलवे दोनों ने यह सुनिश्चित किया है कि वे लोकल ट्रेनों में यात्रा करते समय यात्रियों को कोविड प्रोटोकॉल का पालन करें. पश्चिमी रेलवे के सीपीआरओ सुमित ठाकुर ने कहा, "हम कोविड-19 को फैलने से रोकने के लिए सभी एहतियात बरत रहे हैं और पश्चिमी रेलवे सभी जरूरी कदम उठा रहा है." उन्होंने कहा कि "हम लगातार ट्रेन रैक्स को सैनिटाइज़ कर रहे हैं और इसके लिए हमारे पास एक समर्पित टीम है. यात्रियों की सुविधा के लिए हमने 300 से ज्यादा बुकिंग काउंटर्स खोले हैं. अभी फिलहाल 1300 ट्रेनें चलाई जा रही हैं और हम राज्य सरकार द्वारा बताए गए सभी दिशानिर्देशों का पालन कर रहे हैं."

ठाकुर ने आगे कहा, "राज्य सरकार और बीएमसी की मदद से, हमारी टीम उन लोगों पर जुर्माना भी लगा रही है जो कोविड संबंधी नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं. अब तक करीब 2400 लोगों का चालान करके करीब 3 लाख रुपये की राशि ली गई है. सभी स्टेशनों पर मास्क पहनने की घोषणा नियमित तौर पर की जा रही है और ऐसा न करने पर जुर्माना वसूला जा रहा है." मध्य रेलवे के सीपीआरओ शिवाजी सुतार ने कहा, "हमारे पास आरपीएफ और जीआरपी की टीमे हैं जिन्हें कि संवेदनशील जगहों पर भीड़ को काबू में रखने के लिए तैनात किया गया है. इसलिए किसी भी जगह पर भीड़ जमा नहीं हो पाती है."



ये भी पढ़ें- गुजरात निकाय में जीत से गदगद अमित शाह बोले- अब बंगाल की बारी
लोकल शुरू होने के बाद से बढ़े मामले
हालांकि बीएमसी के आंकड़े बताते हैं कि लोकल ट्रेनों के शुरू होना भी महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों का एक कारण है. 1 फरवरी को रोजाना 400 के करीब मामले सामने आ रहे थे लेकिन फरवरी के पहले हफ्ते के अंत तक ये 500 के पार हो गए.

वहीं 13 फरवरी तक मामले 599 तक पहुंचे इसके बाद 20 फरवरी को दिसंबर के बाद से सबसे ज्यादा 897 नए मामले दर्ज किए गए. इसे देखते हुए महानगरपालिका ने पाबंदियां बढ़ा दी हैं और कोविड संबंधी नियमों का पालन न करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जा रही है. राज्य सरकार फिलहाल पूरी स्थिती पर नज़र रख रही है और अगर अगले 8 दिन में मामले बढ़ते रहते हैं तब कोई बड़ा फैसला लिया जाएगा.

हालांकि ठाकुर का कहना है कि फिलहाल लोकल सेवाओं को रोकने का सरकार का कोई प्रस्ताव नहीं है. उन्होंने कहा, सरकार की ओर से सेवाओं पर पाबंदी लगाने का कोई प्रस्ताव नहीं रखा गया है. राज्य सरकार की ओर से जो भी निर्देश हमें मिलेगा हम उसका पालन करेंगे और उसकी सूचना देंगे.
फिलहाल पश्चिम और मध्य लाइन पर 95 प्रतिशत लोकल ट्रेन सेवाएं शुरू हो चुकी हैं जिस पर कि करीब 22 लाख लोग यात्रा करते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज