Home /News /maharashtra /

कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में मिसाल बना मुंबई का यह गुंबज

कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में मिसाल बना मुंबई का यह गुंबज

Demo Pic

Demo Pic

मुंबई में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों को देखते हुए वर्ली में मौजूद 38,000 वर्ग फुट में फैले NSCI स्टेडियम डोम को क्वारंटीन सेंटर में तब्दील कर दिया गया. इसमें 500 बेड की व्यवस्था की गई है.

    मुंबई. मुंबई में कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते मामलों को देखते हुए वर्ली के नेशनल स्पोर्ट्स क्लब ऑफ इंडिया (NSCI) डोम को एक बड़े क्वारंटीन सेंटर में बदल दिया गया है. मुंबई के वर्ली में मौजूद NSCI स्टेडियम में हजारों बेड की व्यवस्था की गई है. यहां पर सैम्पल लेने वाला व्यक्ति एक बूथ में बैठा होता है, इस बूथ में सामने एक कांच की दीवार हैं, जिसमें दो बड़े-बड़े छेद हैं. अन्दर बैठा व्यक्ति हाथ में रबर के दस्ताने पहने हुए उसमें से हाथ बाहर निकलता है और सैम्पल लेता है. इस केबिन को इस तरह से डिजाइन किया की हवा फ़िल्टर होती रहे. इसमें बैठे व्यक्ति को PPE किट की जरूरत नहीं पड़ती.

    कुछ समय पहले तक यह 38,000 वर्ग फुट में फैला स्टेडियम देश के सबसे बड़े आयोजन स्थलों में से एक था. इसमें 8,000-10,000 लोगों की बैठने की व्यवस्था थी. अब इस स्टेडियम को एक बड़े क्वारंटीन सेंटर में तब्दील कर दिया गया है. इस स्टेडियम में 500 के करीब मरीज़ों को क्वारंटाइन करने के अलावा डॉक्टरों के ठहरने का भी इंतेज़ाम किया गया है.

    कैसा है मरीजों के लिए इंतजाम 
    इसमें सब कुछ एक ग्लास पैनल के अन्दर से किया जाता है. कोई जरूरत पड़ने पर रोगी और डॉक्टर के बीच फोन पर बात करने की सुविधा है. गौरतलब है कि सोमवार तक यहां 260 मरीज थे. इसे मुंबई में बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) के डाइजेस्टिव हेल्थ इंस्टीट्यूट के संस्थापक और जाने-माने बेरिएट्रिक तथा लेप्रोस्कोपिक सर्जन डॉ. मुफ्ती लकड़ावाला ऑपरेट कर रहें हैं. हॉस्पिटल में 10 डॉक्टरों और 30 नर्सों की एक टीम है. साथ ही 30 स्वयंसेवक और बीएमसी अधिकारी 24 घंटे इन मरीजों की निगरानी में रहते हैं.

    यहां मरीजों को परामर्श, भोजन और मनोरंजन से लेकर सभी सुविधाएं दी जाती हैं. जी-साउथ वार्ड के सहायक नगरपालिका आयुक्त शरद उगादे ने कहा, हमने दो स्थानीय फार्मेसियों के साथ भी बात की है. हमने वर्ली, प्रभादेवी और लोअर परेल को शामिल किया है, क्योंकि यहां 600 मामले दर्ज किए गए हैं, जो शहर के सभी वार्डों में सबसे अधिक हैं.

    मुंबई में 25 हजार बेड की है व्यवस्था
    मुंबई में सरकारी और निजी अस्पतालों में आइसोलेशन और क्वारंटाइन के लिए 25,000 से अधिक बेड लगे हैं. मुंबई में अभी तक COVID-19 के 5000 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं. मरीजों को आइसोलेट और क्वारंटाइन करने के लिए बीकेसी एग्जिबिशन ग्राउंड में 1,000 बेड की व्यवस्था की जा रही है. साथ ही 250 बेड की व्यवस्था BMC स्कूलों में और गोरेगांव एग्जिबिशन सेंटर में ऑक्सीजन सिलेंडर के साथ 1,240 बेड की सुविधा उपलब्ध है. अधिकारियों का कहना है कि वे मई अंत तक करीब 75,000 मामलों से निपटने के लिए तैयारी रखेंगे.

    ये भी पढ़ें: मुंबई की मेयर मेडिकल स्टाफ का हौसला बढ़ाने के लिए फिर से बनीं नर्स

    Tags: COVID 19, Mumbai

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर