महाराष्ट्र: 4 साल की बच्ची से यौन शोषण के दोषी 80 साल के बुजुर्ग दंपति को 10 साल जेल

मुज्जफरपुर में हुए कवाल कांड मामले में भाजपा नेताओं पर लगे मुकदमे वापस हो गए हैं.

मुज्जफरपुर में हुए कवाल कांड मामले में भाजपा नेताओं पर लगे मुकदमे वापस हो गए हैं.

कोर्ट ने बुजुर्ग दंपति लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम (POCSO) के तहत सजा सुनाई है. ये मामला साल 2013 का है. मामले के दूसरे ही दिन आरोपी दंपति को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 12, 2021, 9:36 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में 80 साल की उम्र से ज्‍यादा के एक दंपति को 4 वर्षीय बच्‍ची के यौन उत्‍पीड़न (sexual harrasment) के मामले में 10 साल की सजा सुनाई गई है. बच्‍ची बुजुर्ग को दादा-दादी कहती थी. न्यायाधीश रेखा एन पंधारे ने बुजुर्ग दंपति लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम (POCSO) के तहत सजा सुनाई है. ये मामला साल 2013 का है.

पुलिस को दिए बयान में बच्ची ने बताया था कि वह 4 सितंबर 2013 को अपने स्कूल से आने उसने खाना खाया और टीवी पर कार्टून देखने लगी. दोपहर में वह एक दोस्त के साथ खेलने के लिए अपनी इमारत की चौथी मंजिल पर गई हुई थी. बच्ची ने बताया कि जब वह उसके घर पहुंची तो दोस्त सो रही थी. वह अपने घर वापस जाने लगी तभी वहां मौजूद एक दादा-दादी ने उसे बुलाया.

इसे भी पढ़ें :- गोवा सरकार के सचिव को राज्‍य का चुनाव आयुक्‍त बनाना संविधान के खिलाफ: सुप्रीम कोर्ट
इंडिया टुडे की खबर के मुताबिक, बच्ची को 87 वर्षीय एक बुजुर्ग अपने साथ घर ले गया. इसके बाद उसने बच्‍ची को झूले पर बैठाया और उसके साथ छेड़छाड़ करने लगा. बच्ची जब वापस जाने की जिद करने लगी तो बुजुर्ग ने उसे थप्पड़ मार दिया. बच्ची ने आरोप लगाया कि जब वह वहां से भागने की कोशिश करने लगी तो वहां पर पहले से मौजूद एक बुजुर्ग महिला (81) ने उसे कसकर पकड़ा और दोनों ने उसका यौन शोषण किया.



Youtube Video


इसे भी पढ़ें :- पति को 'काला' होने का ताना मारकर घर छोड़ा, मामला पहुंचा अदालत, पुलिस कर रही जांच

बच्‍ची किसी तरह कपड़े पहनकर वहां से भाग निकली. बच्‍ची की मांग ने बताया कि उसी दिन रात में जब वह बच्‍ची को सुलाने गई तो बेटी ने उसे सारी बात बताई. इसके बाद बच्‍ची के माता-पिता ने पुलिस में शिकायत की. शिकायत के अगले ही दिन बुजुर्ग दंपती को गिरफ्तार कर लिया गया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज