Home /News /maharashtra /

Omicron Scare: मुंबई में बढ़ा ओमिक्रॉन का खतरा, अफ्रीकी देशों से 15 दिन में आए 1000 यात्री, जानकारी केवल 466 की

Omicron Scare: मुंबई में बढ़ा ओमिक्रॉन का खतरा, अफ्रीकी देशों से 15 दिन में आए 1000 यात्री, जानकारी केवल 466 की

पिछले 15 दिनों में अफ्रीकी देशों से कम से कम 1000 यात्री मुंबई आ चुके हैं. (PTI Photo/Shailendra Bhojak) (प्रतिकात्‍मक फोटो)

पिछले 15 दिनों में अफ्रीकी देशों से कम से कम 1000 यात्री मुंबई आ चुके हैं. (PTI Photo/Shailendra Bhojak) (प्रतिकात्‍मक फोटो)

Omicron Scare: बीएमसी अधिकारी के मुताबिक अफ्रीकी देशों (African countries) में मिले कोरोना (Corona) के नए ओमिक्रॉन वेरिएंट (Omicron Variant) के सामने आने के बाद से पिछले 15 दिनों में कम से कम 1000 यात्री मुंबई (Mumbai) आ चुके हैं जबकि मुंबई नागरिक निकाय के पास केवल 466 यात्रियों की ही जानकारी मिल सकी है. 466 यात्रियों में से अब तक केवल 100 यात्रियों के स्वाब के नमूने एकत्र किए गए हैं. काकानी ने कहा कि अगर किसी भी यात्री की रिपोर्ट में एस जीन गायब मिलता है तो उस स्थिति में यह माना जाएगा कि वह यात्री ओमिक्रॉन स्‍वरूप से संक्रमित हो सकता है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) के नए और काफी खतरनाक माने जा रहे ओमिक्रॉन वेरिएंट (Omicron Variant) ने एक बार फिर दुनियाभर के देशों के लिए खतरे की घंटी बजा दी है. इसे समय रहते रोकने की कोशिशें भी शुरू कर दी गई हैं. भारत में कोरोना (Corona) की दूसरी लहर (Second Wave) के दौरान मची तबाही के बाद अब एक बार फिर आर्थिक राजधानी मुंबई (Mumbai) में एक बड़ी लापरवाही सामने आई है. कोरोना के खतरे के बीच इस बड़ी लापरवाही का खुलासा खुद बृहन्मुंबई महानगरपालिका (BMC) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने किया है.

    बीएमसी अधिकारी के मुताबिक अफ्रीकी देशों में मिले कोरोना के नए ओमिक्रॉन वेरिएंट के सामने आने के बाद से पिछले 15 दिनों में कम से कम 1000 यात्री मुंबई आ चुके हैं जबकि मुंबई नागरिक निकाय के पास केवल 466 यात्रियों की ही जानकारी मिल सकी है. 466 यात्रियों में से अब तक केवल 100 यात्रियों के स्वाब के नमूने एकत्र किए गए हैं. बृहन्मुंबई नगर निगम के अतिरिक्त नगर आयुक्त सुरेश काकानी ने बताया कि इस संबंध में हवाईअड्डा प्राधिकरण की ओर से जानकारी दी गई है कि एक पखवाड़े में करीब 1 हजार यात्री अफ्रीकी देशों से मुंबई पहुंचे हैं लेकिन उनमें से केवल 466 यात्रियों की सूची ही अभी तक प्राधिकरण की ओर से सौंपी गई है.

    इसे भी पढ़ें :- ओमिक्रॉन के हैं 30 से ज्यादा म्यूटेंट, वैक्सीन लगवा चुके लोगों को भी कर सकता है संक्रमितः AIIMS प्रमुख

    सुरेश काकानी ने बताया कि जिन 466 यात्रियों की सूची सौंपी गई है उनमें से 100 मुंबई के ही रहने वाले हैं. इन सभी के स्‍वाब के नमूने एकत्र कर लिए गए हैं. एक से दो दिन के अंदर उनकी रिपोर्ट आने की उम्‍मीद है. इन रिपोर्ट से ही पता चल सकेगा कि अफ्रीकी देशों से लौटे कोरोना संक्रमित हैं या नहीं. बता दें कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की सलाह पर महानगरपालिका सकारात्मक नमूनों में एस-जीनोम के गायब होने की जांच कराने जा रही है.

    इसे भी पढ़ें :- क्या ‘ओमिक्रॉन’ अन्य कोरोना वेरिएंट के मुकाबले अधिक संक्रामक है? टॉप साइंटिस्ट की 5 अहम बातें

    काकानी ने कहा कि अगर किसी भी यात्री की रिपोर्ट में एस जीन गायब मिलता है तो उस स्थिति में यह माना जाएगा कि वह यात्री ओमिक्रॉन स्‍वरूप से संक्रमित हो सकता है. उन्‍होंने कहा कि अगर किसी भी यात्री में थोड़ा भी संक्रमण पाया जाता है तो उसे अंधेरी के सिविक-संचालित सेवन हिल्स अस्पताल में महानगरपालिका की संस्थागत संगरोध सुविधा में स्थानांतरित कर दिया जाएगा.

    Tags: Corona, Corona 19, Corona Active Case, Coronavirus, Covid 19 second wave, Omicron, Omicron variant, Second Wave

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर