कोरोना के चलते 15 दिनों तक बंद रहेगा ओवल मैदान, बीएमसी ने लिया फैसला

महाराष्ट्र में लगातार कोरोना वायरस के मामले बढ़ रहे हैं.(सांकेतिक फोटो)

महाराष्ट्र में लगातार कोरोना वायरस के मामले बढ़ रहे हैं.(सांकेतिक फोटो)

Mumbai News: मुंबई के चर्चगेट इलाके में स्थित ओवल मैदान में मुंबई के अलावा उसके आस-पास के इलाकों ठाणे, कल्याण-डोम्बिवली, वसई-विरार और पालघर से बड़ी संख्या में बच्चे क्रिकेट खेलने के लिए आते हैं. इसके चलते मैदान में काफी भीड़ होने लगी थी

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 24, 2021, 5:16 PM IST
  • Share this:
मुंबई. मुंबई में एक बार फिर से बढ़ते कोरोना वायरस के मामलों (Coronavirus Cases) को देखते हुए पाबंदियों का दौर शुरू होने लगा है. बढ़ते कोरोना मामलों को देखते हुए बृह्नमुंबई नगरपालिका (Brihanmumbai Municpal Corporation) ने एक बड़ा फैसला लेते हुए मुंबई के बड़े मैदानों में से एक ओवल मैदान (Oval Stadium) को 26 फरवरी से 15 दिनों के लिए बंद करने का फैसला लिया है. इस संबंध में बीएमसी (BMC) ने मुंबई शहर के जिलाधिकारी को एक पत्र भी भेजा है.

दरअसल मुंबई के चर्चगेट इलाके में स्थित ओवल मैदान में मुंबई के अलावा उसके आस-पास के इलाकों ठाणे, कल्याण-डोम्बिवली, वसई-विरार और पालघर से बड़ी संख्या में बच्चे क्रिकेट खेलने के लिए आते हैं. इसके चलते मैदान में काफी भीड़ होने लगी थी और कोरोना संक्रमण के फैलने का खतरा मंडरा रहा था, क्योंकि मुंबई में हर दिन औसतन 7-8 फीसदी कोरोना मामले बढ़ रहे हैं, इसी को ध्यान में रखते हुए बीएमसी ने ओवल मैदान को बंद करने का फैसला किया.

ये भी पढ़ें- मुंबई में लोकल ट्रेनों के कारण बढ़े कोरोना केस! BMC का डेटा कर रहा इशारा



मुंबई में अब तक आ चुके हैं 3 लाख 20 हजार से ज्यादा केस
बता दें कि मुंबई में अब के जारी किए गए आंकड़े के मुताबिक 24 घंटे में 643 कोरोना मरीज सामने आए, जबकि 6 मरीजों की मौत भी हुई. मुंबई में अब तक कुल 3,20,532 कोरोना के मामले सामने आ चुके हैं, जबकि 11454 मरीजों की मौत हो चुकी है. मुंबई सहित पूरे महाराष्ट्र में बढ़ते इसी खतरे को देखते हुए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने जनता को नियम पालन करने की चेतावनी देते हुए 8 दिन बाद लॉकडाउन पर विचार करने की बात कही है, लेकिन उनकी इस अपील का कोई असर फिलहाल देखने को नहीं मिल रहा है और ज्यादातर लोग बिना मास्क के घूम रहे हैं.

अगर मामले ऐसे ही बढ़ते रहे और मुंबईकरों ने अपनी जिम्मेदारियां नहीं समझी तो मुंबई में लॉकडाउन करने की नौबत दोबारा आ सकती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज