लाइव टीवी

मेरे पिता का मेरे पद्मश्री सम्मान से क्या लेना-देना: अदनान सामी
Maharashtra News in Hindi

भाषा
Updated: January 30, 2020, 3:58 PM IST
मेरे पिता का मेरे पद्मश्री सम्मान से क्या लेना-देना: अदनान सामी
किस्तानी मूल के भारतीय गायक अदनान सामी

इस साल पद्मश्री पुरस्कार पाने वालों में शामिल पाकिस्तानी मूल के गायक अदनान सामी (Adnan Sami) विवादों के केंद्र में हैं.

  • Share this:
मुंबई. पाकिस्तानी मूल के गायक अदनान सामी (Adnan Sami) को पद्मश्री पुरस्कार दिए जाने की घोषणा के बाद से शुरू हुए विवाद पर उनका कहना है कि वो एक कलाकार हैं और उनका राजनीति से कोई लेना-देना नहीं है. उन्होंने कहा कि कुछ लोग अपने निहित स्वार्थ के चलते उनका नाम विवादों में घसीट रहे हैं.

क्यों हो रहा है विवाद?
उन्होंने इस विवाद को लेकर सवाल खड़ा किया कि उनके पिता का उनके पुरस्कार से क्या लेना-देना है. दरअसल सामी के पिता पाकिस्तान वायु सेना में पायलट थे और इसीलिए उनके नाम पर विवाद है लेकिन सामी पूरे विवाद को गैरजरूरी मानते हैं. सामी को 2016 में भारत की नागरिकता दी गई थी. उन्होंने इस प्रतिष्ठित पुरस्कार के लिए चुने जाने पर सरकार का ‘अनंत आभार’ व्यक्त किया है.

उन्होंने कहा, ‘आलोचना करने वाले कुछ छोटे मोटे राजनेता हैं. वे किसी राजनीतिक एजेंडे के तहत ये कर रहे हैं और इसका मुझसे कोई लेना देना नहीं है. मैं नेता नहीं हूं, मैं संगीतकार हूं.’

अदनान की सफाई
उन्होंने कहा, ‘मेरे पिता सम्मानित लड़ाकू पायलट थे और एक पेशेवर सैनिक थे. उन्होंने अपने देश के प्रति अपना फर्ज निभाया. उसके लिए मैं उनका सम्मान करता हूं. वह उनका जीवन था और उसके लिए उन्हें पुरस्कृत किया गया. मैंने उससे लाभ नहीं उठाया और न ही उसका श्रेय लिया. ठीक इसी प्रकार से मैं जो करता हूं उसका श्रेय उन्हें नहीं दिया जा सकता. मेरे पुरस्कार का मेरे पिता से क्या लेना देना? यह गैरजरूरी है.’

'मैं अवॉर्ड का हकदार'उन्होंने कहा, ‘अब मैं एक भारतीय नागरिक हूं, इस पुरस्कार को पाने का पूरा हकदार हूं. वे मेरी पाकिस्तानी पृष्ठभूमि को सामने ला रहे हैं, यह हास्यास्पद और चौंकाने वाला है. वे किसी भी चीज को उठा रहे हैं क्योंकि उनके पास कहने के लिए और कुछ नहीं है.’

हालांकि, उन्होंने कहा कि अलग-अलग राजनीतिक दलों के लोगों से उनके अच्छे संबंध है. इस साल पद्मश्री पुरस्कार पाने वालों में शामिल सामी विवादों के केंद्र में हैं. विपक्षी कांग्रेस और राकांपा उनकी योग्यता पर सवाल उठा रहे हैं, तो वहीं भाजपा सामी के साथ खड़ी है, जिसका कहना है कि वह इस पुरस्कार के लिए पात्र व्यक्ति हैं.

यह भी पढ़ें :- 

बजट सत्र से पहले पीएम नरेंद्र मोदी बोले- हर मुद्दे पर चर्चा करने को तैयार

हेट स्पीच पर EC का एक्शन, अनुराग ठाकुर पर 72, प्रवेश वर्मा पर 96 घंटे का बैन

'शाहीन बाग की आड़ में नेता जिन्ना वाली आजादी की कर रहे बात, देश सब देख रहा'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए महाराष्ट्र से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 30, 2020, 2:58 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर