लाइव टीवी

Parli Assembly Exit Poll Results 2019: पंकजा मुंडे बरकरार रख सकती हैं ​अपनी परली सीट

News18Hindi
Updated: October 21, 2019, 7:42 PM IST
Parli Assembly Exit Poll Results 2019: पंकजा मुंडे बरकरार रख सकती हैं ​अपनी परली सीट
पंकजा मुंडे

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव (Maharashtra Assembly election 2019) में जिन सीटों पर सबकी निगाहें हैं, उनमें परली विधानसभा सीट (Parly Assembly seat) भी है. इस सीट से एक बार फिर से पंकजा मुंडे (Pankaja Munde) मैदान में हैं. उनका मुकाबला अपने ही चचेरे भाई से है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 21, 2019, 7:42 PM IST
  • Share this:
बीड़. महाराष्ट्र (Maharashtra) में बीजेपी (BJP) के कद्दावर नेता रहे गोपीनाथ मुंडे की बेटी पंकजा मुंडे (Pankaja Munde) बीड (Beed) जिले की परली विधानसभा (Parli Assembly Election) सीट से विधायक हैं. परली सीट को गोपीनाथ मुंडे का गढ़ कहा जाता है. पंकजा मुंडे ने साल 2014 में परली सीट से चुनाव जीता था. एक बार फिर पंकजा मुंडे पर अपने पिता की पारंपरिक सीट पर कब्जा बरकरार रखने की जिम्मेदारी है. एग्जिट पोल की मानें तो पंकजा अपनी सीट निकाल सकती हैं.

पंकजा मुंडे के सामने उनके चचेरे भाई धनंजय मुंडे (Dhananjay Munde) चुनाव मैदान में हैं. धनंजय मुंडे एनसीपी (NCP) उम्मीदवार हैं और विधान परिषद में विपक्ष के नेता हैं. साल 2014 में भी पंकजा मुंडे ने धनंजय मुंडे को चुनाव में हराया था.

इस वजह से परली की सीट सबसे हाईप्रोफाइल बन गई है, क्योंकि एक ही राजनीतिक परिवार के दो लोग अलग-अलग पार्टियों से एक दूसरे के खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं. वहीं इसी साल हुए लोकसभा चुनाव में बीड जिले से बीजेपी की प्रीतम गोपीनाथ राव मुंडे 1 लाख 68 हजार 368 मतों के अंतर से चुनाव जीती थीं. जबकि 2014 में हुए महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में परली विधानसभा सीट पर पंकजा मुंडे ने 96 हजार 904 वोट हासिल कर जीत दर्ज की थी. पंकजा ने अपने चचेरे भाई को 25,000 मतों के अंतर से मात दी थी.

इस बार चुनाव में पंकजा मुंडे विकास के कामों को लेकर आत्मविश्वास से भरी हुई हैं. उन्हें पूरा भरोसा है कि पांच साल में उनके और फडणवीस सरकार के कामों पर जनता उन्हें जिताएगी. पंकजा का मानना है कि सड़क से लेकर रेल मार्ग तक के सारे काम बहुत तेजी से पूरे किए गए हैं.

साल 2014 के बाद से मराठवाड़ा में बीजेपी ने जमकर मेहनत की है. महाराष्ट्र की सियासत में पश्चिम महाराष्ट्र और विदर्भ के बाद मराठवाड़ा का प्रतिनिधित्व सबसे ज्यादा है. मराठवाड़ा के 8 जिलों में विधानसभा की कुल 46 सीटें हैं. बीजेपी और शिवसेना ने साल 2014 में यहां की 26 सीटें जीती थीं. बीड़ जिले में दिवंगत गोपीनाथ मुंडे का प्रभाव रहा है और अब पंकजा मुंडे की धनंजय मुंडे के साथ दूसरी चुनावी लड़ाई ने इस मुकाबले को दिलचस्प बना दिया है.

यह भी पढ़ें-

Maharashtra Assembly Exit Poll: कराद सीट पर करिश्मा दिखा पाएंगे पृथ्वीराज?
Loading...

देवेंद्र फडणवीस संघ के गढ़ में क्या एक बार फिर से खिला पाएंगे कमल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए महाराष्ट्र से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 21, 2019, 7:09 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...