SSR Case: महाराष्ट्र सरकार के मंत्री बोले, 'शरद पवार के पोते राजनीति में नए हैं और मैं क्या ही बोलूं'

वरिष्ठ नेता ने यह भी कहा था कि उनका मुंबई पुलिस में पूरा विश्वास है.

Sushant Singh Rajput Case: महाराष्ट्र के मंत्री आदित्य ठाकरे (Aditya Thackeray) का नाम अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले से जोड़े जाने को लेकर एक सवाल पर, भुजबल ने कहा कि शिवसेना नेता इससे कहीं भी जुड़े नहीं हैं और उन्हें निशाना बनाया जा रहा है.

  • Share this:
    मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) के मंत्री छगन भुजबल (Chhagan Bhujbal) ने गुरुवार को कहा कि राकांपा नेता पार्थ पवार राजनीति में नए हैं. एक दिन पहले ही राकांपा प्रमुख शरद पवार (Sharad Pawar) ने अपने पोते पार्थ पवार द्वारा अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले (Sushant Singh Rajput death Case) की सीबीआई जांच (CBI Investigation) की सार्वजनिक रूप से मांग करने पर कहा था कि वह उनकी मांग को बिल्कुल भी महत्व नहीं देते.

    भुजबल ने गुरुवार को कहा, ‘‘उन्होंने (शरद पवार) ने जब बोल दिया है तो मुझे बोलने की जरूरत नहीं है. उन्होंने कहा कि पार्थ अपरिपक्व हैं. अब मैं और क्या कह सकता हूं. नया हैं वह.’’ उन्होंने कहा कि पवार परिवार के सदस्य और पार्टी ‘‘एकजुट’’ हैं और अजित पवार इस मुद्दे को लेकर अप्रसन्न नहीं हैं.

    परिवार एकजुट है जिसका हम भी एक हिस्सा हैं
    राज्य के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता संरक्षण मंत्री ने कहा, ‘‘परिवार एकजुट है जिसका हम भी एक हिस्सा हैं और अजित दादा भी अप्रसन्न नहीं हैं. कोई भी अप्रसन्न नहीं है, हम सभी साथ हैं.’’

    महाराष्ट्र के मंत्री आदित्य ठाकरे का नाम अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले से जोड़े जाने को लेकर एक सवाल पर, भुजबल ने कहा कि शिवसेना नेता इससे कहीं भी जुड़े नहीं हैं और उन्हें निशाना बनाया जा रहा है.

    राकांपा प्रमुख ने बुधवार को कहा था कि वह राजपूत की मौत के मामले की सीबीआई जांच की अपने पोते (भतीजे के बेटे) की मांग को ‘‘बिल्कुल भी महत्व’’ नहीं देते. शरद पवार ने साथ ही पार्थ पवार को ‘‘अपरिपक्व’’ करार दिया था.

    सीबीआई जांच का विरोध नहीं
    वरिष्ठ नेता ने यह भी कहा था कि उनका मुंबई पुलिस में पूरा विश्वास है और यदि कोई अभी भी यह चाहता है कि केंद्रीय जांच एजेंसी राजपूत मौत मामले की जांच करे, तो वह विरोध नहीं करेंगे. 34 वर्षीय राजपूत गत 14 जून को मुंबई के बांद्रा उपनगरीय क्षेत्र स्थित अपने अपार्टमेंट में फंदे से लटके पाये गए थे.

    महाराष्ट्र में विपक्षी भाजपा मामले की सीबीआई जांच की मांग कर रही है. बिहार में जदयू नीत सरकार ने इस मामले की सीबीआई जांच की सिफारिश कर दी है. महाराष्ट्र सरकार का कहना है कि बिहार का इस मामले में कोई क्षेत्राधिकार नहीं है क्योंकि मौत मुंबई में हुई है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.