Home /News /maharashtra /

patra chawl scam ed question sanjay raut in money laundering case

पात्रा चॉल केस: संजय राउत से ईडी कर रही है पूछताछ, जानें इस घोटाले में कैसे हुआ करोड़ों का ट्रांसफर

आज ईडी के समक्ष पेश हो रहे हैं संजय राउत (फाइल फोटो)

आज ईडी के समक्ष पेश हो रहे हैं संजय राउत (फाइल फोटो)

Patra Chawl scam: संजय राउत के करीबी कहे जाने वाले प्रवीण राउत गुरुआशीष कंस्ट्रक्शंस नाम की एक कंपनी के निदेशक थे जो हाउसिंग डेवलपमेंट इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (एचडीआईएल) की एक सहायक कंपनी थी.

मुंबई. शिवसेना नेता संजय राउत की आज कथित मनी लॉन्ड्रिंग केस में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के अधिकारियों के सामने पेशी हो रही है. एजेंसी ने राउत को 28 जून को सम्मन भेजा था, लेकिन उनके वकील ने जांच एजेंसी से पेश होने के लिए कुछ और वक्त मांगा था. ईडी ने मुंबई की एक ‘चॉल’ के पुन: विकास और राउत की पत्नी तथा दोस्तों से संबंधित वित्तीय लेनदेन से जुड़ी धन शोधन की जांच के सिलसिले में पूछताछ के लिए राज्यसभा सदस्य को सम्मन भेजा था.

इससे पहले ईडी ने संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत का बयान दिसंबर 2021 में दर्ज किया था. राउत की पत्नी वर्षा राउत 1034 करोड़ के पात्रावाला चॉल घोटाले मामले में गिरफ्तार पीएमएलए आरोपी प्रवीण राउत की पत्नी माधुरी राउत के साथ सिद्धांत सिस्कोन प्राइवेट लिमिटेड कंपनी में पार्टनर हैं. इसी सिद्धांत सिस्कोन प्राइवेट लिमिटेड कंपनी से 55 लाख रुपये माधुरी राउत ने संजय राउत की पत्नी को बिना ब्याज के लोन के तौर पर दिए थे. जिससे संजय राउत परिवार ने दादर में फ्लैट खरीदा था जिसे ईडी से सीज कर लिया है.

पात्रावाला चॉल केस
संजय राउत के करीबी कहे जानेवाले प्रवीण राउत गुरुआशीष कंस्ट्रक्शंस नाम की एक कंपनी के निदेशक थे जो हाउसिंग डेवलपमेंट इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (एचडीआईएल) की एक सहायक कंपनी थी. गुरुआशीष कंस्ट्रक्शन ने म्हाडा के साथ गोरेगांव में पात्रा चॉल में लैंड पार्सल के पुनर्विकास के लिए डील की थी. जिसके तहत गुरुआशीष कंस्ट्रक्शन को 3000 से अधिक फ्लैटों का निर्माण करना था, इनमें से लगभग 672 पात्रा चॉल में रहने वाले लोगों को मिलने थे. जबकि बाकी फ्लैट म्हाडा और गुरुआशीष के पास जाने थे.

क्या है आरोप?
आरोप है कि कंपनी ने फ्लैट्स का निर्माण नहीं किया और MHADA और पात्रा चॉल में रहने वाले लोगों के साथ ठगी करते हुए इस जमीन को 1034 करोड़ रुपये में अन्य 3 बिल्डर्स को बेच दिया. इस डील में 95 करोड़ रुपये एचडीआईएल की तरफ से प्रवीण राउत को मिले. प्रवीण राउत ने इसमें से 1.6 करोड़ रुपये अपनी पत्नी माधुरी राउत की कंपनी सिद्धांत सिस्कोन प्राइवेट लिमिटेड कंपनी अकाउंट में ट्रांसफर किए और फिर माधुरी राउत ने उसमें से कंपनी की पार्टनर और संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत को 55 लाख रुपये का बिना ब्याज के लोन दिया था जिससे राउत परिवार ने दादर में फ्लैट खरीदा.

ईडी इस पैसे के ट्रेल रूट का सोर्स खंगालना चाहती है. ईडी की जांच के मुताबिक-संजय राउत और उनसे जुड़े लोगों की घरेलू और अंतरराष्ट्रीय यात्रा के लिए होटल और टिकट भी प्रवीण राउत की कंपनी से बुक किए जाते थे. ईडी ने कार्रवाई करते हुए पीएमएलए प्रवीण राउत की कई प्रॉपर्टी सीज की थीं, जिसमें संजय राउत का दादर का फ्लैट भी सीज किया गया.

Tags: Sanjay raut

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर