होम /न्यूज /महाराष्ट्र /

वैभव रावत सहित दो अन्‍य आतंकियों की पुलिस कस्‍टडी 28 अगस्‍त तक बढ़ी

वैभव रावत सहित दो अन्‍य आतंकियों की पुलिस कस्‍टडी 28 अगस्‍त तक बढ़ी

प्रतिकात्मक तस्वीर

प्रतिकात्मक तस्वीर

महाराष्ट्र के आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) ने बड़े ऑपरेशन को अंजाम देते हुए कुछ दिन पहले ही तीन संदिग्ध आतंकियों को पालघर और पुणे से गिरफ्तार किया था.

    पालघर और पुणे से आतंकवाद निरोधक दस्‍ते (एटीएस) के शिकंजे में आए दक्षिणपंथी हिंदू संगठ के तीनों आरोपियों के पुलिस कस्‍टडी बढ़ा दी गई है. मुंबई की विशेष एनआईए अदालत ने तीनों आरोपियों को 28 अगस्‍त तक पुलिस कस्‍टडी में भेज दिया है.

    महाराष्ट्र के आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) ने बड़े ऑपरेशन को अंजाम देते हुए कुछ दिन पहले ही तीन संदिग्ध आतंकियों को पालघर और पुणे से गिरफ्तार किया था. पकड़े गए आतंकी दक्षिणपंथी हिंदू संगठन के सदस्य बताए जा रहे हैं. एटीएस का दावा है कि ये संदिग्ध महाराष्ट्र के अलग-अलग शहरों में आतंकी हमले को अंजाम देने की फिराक में थे. एटीएस ने इनके पास से देसी बम सहित भारी मात्रा में विस्फोटक सामग्री भी बरामद की है.

    मुंबई से सटे नालासोपारा के रहने वाले 40 साल के वैभव राउत के घर पर एटीएस की टीम ने गुरुवार देर रात को छापेमारी की. यहां विस्फोटक सामग्री जब्त करने के साथ वैभव राउत और 25 वर्षीय शरद कालस्कर को गिरफ्तार किया गया. उनसे पूछताछ के बाद पुणे में 39 वर्षीय सुधनवा गोंधालेकर को भी गिरफ्तार किया गया था.

    खुफिया जानकारी पर एटीएस ने मारा था छापा
    एटीएस के मुताबिक, 7 अगस्त को सूचना मिली थी कि कुछ आतंकी मुंबई, पुणे, सतारा, सोलापुर और नालासोपारा में आत्मघाती हमला कर सकते हैं. एटीएस को संदिग्ध आरोपी का नंबर भी मिला था. उसके आधार पर आरोपी के नालासोपारा स्थित घर और दुकान में छापा मारा गया.

    नालासोपारा वेस्ट के भंडार आली में राउत के घर और दुकान पर छापे में 20 देसी बम, दो जिलेटिन छड़, 22 नॉन इलेक्ट्रॉनिक डेटोनेटर, 150 ग्राम विस्फोटक पाउडर, जहर की दो बोतल, बैटरी आदि सामान मिले हैं. जब्त सामग्री फॉरेंसिक साइंस लैबोरेटरी भेजी गई है.

     इसे भी पढ़ें :-

    महाराष्ट्र: विस्फोटक के साथ गिरफ्तार लोगों के संबंध में ATS ने की 16 लोगों से पूछताछ
    मुंबई में आत्मघाती हमले की साजिश नाकाम, ATS ने दक्षिणपंथी संगठन से जुड़े 3 अरेस्ट

    Tags: Maharashtra

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर