पुलिस ने बच्‍चे का शव समझ किया पंचनामा, पोस्‍टमार्टम में शरीर से निकला कपास और स्‍पंज
Mumbai News in Hindi

पुलिस ने बच्‍चे का शव समझ किया पंचनामा, पोस्‍टमार्टम में शरीर से निकला कपास और स्‍पंज
नवजात के शव का हुआ पोस्‍टमार्टम तो खुला राज.

यह घटना पूरे इलाके में चर्चा का विषय बनी हुई है. क्‍योंकि पुलिस ने जिसे नवजात का शव (Baby dead body) समझा था वो असल में एक प्‍लास्टिक की गुडि़या थी.

  • Share this:
नई दिल्‍ली. महाराष्‍ट्र पुलिस (Maharashtra Police) के साथ एक अजीब घटना सामने आई है. राज्‍य के बुलढाणा की खामगांव तालुका में नदी के किनारे पुलिस को कपड़े में लिपटे नवजात का शव पड़ा होने की सूचना मिली थी. पिंपलगांव राजा पुलिस मौके पर पहुंची और शव का पंचनामा कर दिया. इसके बाद खामगांव के अस्‍पताल में शव को पोस्‍टमार्टम के लिए भेज दिया गया. लेकिन जब नवजात के कथित शव का पोस्‍टमार्टम शुरू किया गया तो उसके शरीर से कपास और स्‍पंज निकलने लगा. इसके बाद डॉक्‍टरों को पता चला कि यह नवजात का शव नहीं, बल्कि खिलौना है. ऐसे में पुलिस की कार्यशैली पर भी सवाल उठ रहे हैं.

यह घटना पूरे इलाके में चर्चा का विषय बनी हुई है. क्‍योंकि पुलिस ने जिसे नवजात का शव समझा था वो असल में एक प्‍लास्टिक की गुडि़या थी. इस मामले में पुलिस इंस्‍पेक्‍टर ने जानकारी दी है. उनके अनुसार गांव की ओर से उनके पास सूचना आई थी कि नदी के पास एक 7 से 8 महीने के नवजात का शव पड़ा है.

ऐसे में पुलिस ने दूसरे दिन पंचनामा करके कागजात तैयार कर लिए थे. कीचड़ में सने होने के कारण वो किसी नवजात बच्‍चे का शव ही दिखाई पड़ रहा था. लेकिन जब पोस्‍टमार्टम में कपास और स्‍पंज निकला तो समझ आया कि यह तो गुडि़या है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading