#SaveDivyansh: दिव्यांश के पिता का दावा, इस वजह से पुलिस ने थाने में किया बंद

मासूम के पिता सूरज ने कहा कि जब मेयर यहां पर आए तो मुझे मौके से पुलिस वाले अपने साथ ले गए. मेरे साथ दिव्यांश को ढूंढ रहे दोस्तों को भी वे ले गए. हम सभी को जेल में डाल दिया. इसके बाद उन्होंने तब हमें बाहर निकाला जब मेयर यहां से चले गए.

News18Hindi
Updated: July 12, 2019, 2:25 PM IST
#SaveDivyansh: दिव्यांश के पिता का दावा, इस वजह से पुलिस ने थाने में किया बंद
सूरज ने कहा कि दिव्यांश अभी तक क्यों नहीं मिला और बीएमसी की कितनी बड़ी लापरवाही आज मेरे परिवार के लिए मुसीबत बनी हुई है.
News18Hindi
Updated: July 12, 2019, 2:25 PM IST
मुंबई के गोरेगांव इलाके में नाले में बहे दो साल के मासूम दिव्यांश का जहां एक तरफ पता नहीं चल पा रहा है, वहीं दूसरी तरफ उसके पिता सूरज ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाया है. सूरज ने कहा कि उसे और उसके कुछ साथियों को जो उसकी मदद कर रहे थे पुलिस ने थाने में बंद कर दिया था. उसने बताया कि लापरवाही के चलते ही दिव्यांश नाले में गिरा और अब उसी लापरवाही के चलते वह अभी तक मिला नहीं है. यदि बीएमसी समय पर उसे ढूंढना शुरू करती तो शायद वह अभी उसके साथ होता.

मेयर आए तो मुझे थाने में किया बंद


सूरज ने कहा कि जब मेयर यहां पर आए तो मुझे मौके से पुलिस वाले अपने साथ ले गए. मेरे साथ दिव्यांश को ढूंढ रहे दोस्तों को भी वे ले गए. हम सभी को जेल में डाल दिया. इसके बाद उन्होंने तब हमें बाहर निकाला जब मेयर यहां से चले गए. उसने कहा कि मैं उन्हें बता भी नहीं सका कि हमारे साथ क्या हुआ. दिव्यांश अभी तक क्यों नहीं मिला और बीएमसी की कितनी बड़ी लापरवाही आज मेरे परिवार के लिए मुसीबत बनी हुई है.


Loading...

बता दें कि बुधवार रात करीब 10 बजकर 40 मिनट पर नन्हा दिव्यांश घर के बाहर खेल रहा था इस दौरान पैर फिसल जाने के चलते वह खुले नाले में जा गिरा था. बाद में पास की मस्जिद पर लगे सीसीटीवी की फुटेज देखने के बाद घटना की जानकारी मिली थी.

पिता ने दी आत्महत्या की धमकी
इस बीच दिव्यांश के परिजन भी सब्र खोते जा रहे हैं. मासूम के पिता सूरज सिंह ने कहा है कि जल्द ही यदि मेरा बेटा मुझे नहीं मिलता तो मैं आत्महत्या कर लूंगा. सूरज ने इस पूरी घटना के लिए बीएमसी को जिम्मेदार बताया है. वहीं बच्चे की मां बाहर के नाले में मासूम की रात भर तलाश करती रही.



बीएमसी पर कार्रवाई की मांग
बच्चे के चाचा संदीप सिंह ने कहा, हादसे के लिए पूरी तरह से बीएमसी जिम्मेदार है, बीएमसी के खिलाफ एक्शन होना चाहिए. बच्चे के नाले में गिरने के बाद आस-पास के लोगों ने भी बीएमसी को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि अगर नाला ढका होता तो यह हादसा नहीं होता. लोगों का आरोप है कि बचाव अभियान भी सही वक्त पर शुरू नहीं किया गया.

ये भी पढ़ें - 'बच्चा सो रहा है, नहीं आ सकता... आकर गिरफ्तार कर लो'


देर रात खुले नाले में गिरा 2 साल का बच्चा, सर्च ऑपरेशन जारी
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...