लाइव टीवी

संजय काकड़े का बड़ा आरोप- BJP को ‘ब्लैकमेल’ करने की कोशिश कर रही हैं पंकजा मुंडे

भाषा
Updated: December 13, 2019, 8:57 PM IST
संजय काकड़े का बड़ा आरोप- BJP को ‘ब्लैकमेल’ करने की कोशिश कर रही हैं पंकजा मुंडे
पंकजा मुंडे ने संकेत दिया है कि वह इसलिए चुनाव हारी क्योंकि ‘बीजेपी के कुछ नेता’ नहीं चाहते थे कि वह जीतें. (फाइल फोटो)

पंकजा मुंडे (Pankaja Munde) ने गुरुवार को कहा था कि वह अपनी पार्टी से नाखुश नहीं हैं, लेकिन बीजेपी (BJP) उनके पार्टी में बने रहने पर फैसला करने के लिए स्वतंत्र है.

  • Share this:
पुणे. बीजेपी (BJP) से राज्यसभा सदस्य संजय काकड़े (Sanjay Kakade) ने शुक्रवार को पार्टी नेता और पूर्व मंत्री पंकजा मुंडे (Pankaja Munde) पर हमला किया और आरोप लगाया कि वह विधानसभा चुनाव में हार के लिए ‘अन्य’ को जिम्मेदार ठहराकर पार्टी को ‘ब्लैकमेल करने की कोशिश’ कर रही हैं. महाराष्ट्र के बीड जिले में अपने पिता गोपीनाथ मुंडे की पुण्यतिथि के मौके पर एक रैली को संबोधित करते हुए पंकजा मुंडे ने बृहस्पतिवार को कहा था कि वह अपनी पार्टी से नाखुश नहीं हैं, लेकिन बीजेपी उनके पार्टी में बने रहने पर फैसला करने के लिए स्वतंत्र है.

पूर्व मंत्री ने इसका भी संकेत दिया कि वह बीड जिले की पर्ली सीट अपने चचरे भाई और एनसीपी नेता धनजंय मुंडे से इसलिए हारी क्योंकि ‘बीजेपी के कुछ नेता’ नहीं चाहते थे कि वह चुनाव जीतें. काकड़े ने आरोप लगाया, 'वह (पंकजा मुंडे) अपनी हार की जिम्मेदारी किसी ओर के मत्थे मढ़ने की कोशिश कर रही हैं और पार्टी से कुछ प्राप्त करने का प्रयास कर रही हैं. यह कुछ हासिल करने के लिए पार्टी को ब्लैकमेल करने की कोशिश है.'

सांसद ने कहा कि पंकजा मुंडे के बयान से बीजेपी कार्यकर्ताओं को तकलीफ हुई है. उन्होंने कहा, 'गोपीनाथ मुंडे को भी हार का मुंह नहीं देखना पड़ा, क्योंकि वह लोगों से जुड़े रहते थे. लेकिन पंकजा के मामले में ऐसा नहीं है. उन्होंने अपने निर्वाचन क्षेत्र की उपेक्षा की. जातीय राजनीति की और इसलिए वह हारीं.'


ये भी पढ़ें-

नाराज पंकजा मुंडे ने कहा- नहीं छोड़ूंगी BJP, पार्टी चाहे तो ले सकती है फैसला

कौन हैं पंकजा मुंडे, जिनके बागी तेवरों से BJP को हो सकती है दिक्कत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Pune से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 13, 2019, 8:41 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर