पुणे में नाइट कर्फ्यू 14 मार्च तक बढ़ा, बंद रहेंगे शैक्षणिक संस्थान, 24 फरवरी से 1000+ केस

पुणे में लोगों के घूमने फिरने पर रात 11 बजे से लेकर सुबह 6 बजे तक रोक रहेगी. (फाइल फोटो: Shutterstock)

पुणे में लोगों के घूमने फिरने पर रात 11 बजे से लेकर सुबह 6 बजे तक रोक रहेगी. (फाइल फोटो: Shutterstock)

Coronavirus in Pune: नाइट कर्फ्यू के दौरान पुणे शहर में रात 11 बजे से सुबह के 6 बजे तक सार्वजनिक गतिविधियों की अनुमति नहीं होगी. सिर्फ आवश्यक जरूरत के सामानों की दुकानें ही खुली रहेंगी.

  • Share this:
नई दिल्ली. पुणे को कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण से राहत नहीं मिलती दिख रही है और राज्य की उद्धव सरकार ने नाइट कर्फ्यू (Night Curfew) को 14 मार्च तक के लिए बढ़ा दिया है. स्कूल, कॉलेज, कोचिंग क्लासेस और अन्य शैक्षणिक संस्थानों को बंद रखने का फैसला हुआ है. पुणे की मेयर ने कहा कि 24 फरवरी के बाद से शहर में कोरोना वायरस संक्रमण के 1000 से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं. नाइट कर्फ्यू के दौरान पुणे शहर (Pune City) में रात 11 बजे से सुबह के 6 बजे तक सार्वजनिक गतिविधियों की अनुमति नहीं होगी. सिर्फ आवश्यक जरूरत के सामानों की दुकानें ही खुली रहेंगी.

'जनवरी में खुले शैक्षणिक संस्थान बंद हुए'
पुणे के मेयर मुरलीधर मोहोल ने कहा, "पिछले कुछ दिनों से पुणे शहर में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. 28 फरवरी तक लागू की गई गाइडलाइंस को 14 मार्च तक के लिए बढ़ा दिया गया है." बता दें कि महीनों तक ऑनलाइन पढ़ाई के बाद पुणे में जनवरी महीने में शैक्षणिक संस्थान खोले गए थे. म्युनिसिपल कॉरपोरेशन ने शिक्षकों और स्कूल स्टॉफ को आरटी-पीसीआर टेस्ट कराने के बाद ही शैक्षणिक संस्थानों में आने को कहा था. पुणे ग्रामीण में शैक्षणिक संस्थान नवंबर में खुले थे.

संक्रमण का केंद्र बना विदर्भ क्षेत्र
हालांकि फरवरी महीने में कोरोना वायरस संक्रमण बढ़ने के बाद प्रशासन ने शैक्षणिक संस्थान बंद कर दिए हैं. पूरे महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण फिर से फैल रहा है. विदर्भ क्षेत्र इस बार संक्रण का केंद्र बनकर उभरा है. अकोला, अमरावती, यवतमाल, बुलढाणा, वर्धा और नागपुर जिले में संक्रमण के मामले सबसे ज्यादा आ रहे हैं. 28 फरवरी को सरकार की ओर से जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक पुणे में कोरोना वायरस संक्रमण के 4 लाख 6 हजार 453 मामले हैं. इनमें से 3 लाख 87 हजार से ज्यादा लोग इलाज पाकर स्वस्थ हुए हैं.



52 हजार से ज्यादा लोगों की मौत
पुणे में एक्टिव केस की संख्या शनिवार तक 9,860 थी, जबकि मरने वालों का आंकड़ा 9,235 है. पूरे देश में कोरोना वायरस संक्रमण की बात करें तो महाराष्ट्र सबसे ज्यादा प्रभावित है. राज्य में रविवार को कोरोना वायरस के 8,623 नए मामले सामने आए हैं, वहीं 51 लोगों की संक्रमण के चलते मौत हुई है. राज्य में संक्रमण फैलने के बाद से 52 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हुई है.

महाराष्ट्र में संक्रमण के कुल 21 लाख 46 हजार से ज्यादा केस हैं और 73 हजार से ज्यादा एक्टिव मामले हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज