महाराष्ट्र: डेंटल कॉलेज का छात्रों को फरमान, पहले 2 हफ्ते क्वारंटाइन, फिर परीक्षा
Pune News in Hindi

महाराष्ट्र: डेंटल कॉलेज का छात्रों को फरमान, पहले 2 हफ्ते क्वारंटाइन, फिर परीक्षा
डेंटल कॉलेज ने कहा, छात्रों को पहले 2 हफ्ते रहना होगा क्वारंटाइन (फाइल फोटो)

एक छात्र (Student) के रिश्तेदार ने कहा, ‘प्रबंधन ने छात्रों से कहा है कि वे सितंबर के पहले सप्ताह में कॉलेज पहुंच जाएं और दो सप्ताह तक क्वारंटाइन (Quarantine) में रहें. इसके बाद तीसरे सप्ताह में परीक्षा में बैठें.’

  • Share this:
पुणे. महाराष्ट्र (Maharashtra) में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच एक डेंटल कॉलेज (Dental College) ने छात्रों को चिंता में डाल दिया है. पुणे शहर के पास स्थित एक निजी डेंटल कॉलेज ने अपने 150 से अधिक छात्रों से कहा है कि वे कॉलेज में ही दो सप्ताह तक क्वारंटाइन (Quarantine) में रहें और अगले महीने परीक्षा देने के लिए उपस्थित रहें. पिंपरी उपनगर में स्थित डीवाई पाटिल डेंटल कॉलेज एवं अस्पताल के स्नातक और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम के छात्रों ने बताया कि उनसे कहा गया है कि वे अपने गृह जिले से निकलने से पहले कोरोना वायरस की जांच कराएं और परीक्षा से कम से कम से दो सप्ताह पहले कॉलेज पहुंचकर क्वारंटाइन में रहें.

छात्रों (Student) और उनके माता-पिता ने कोविड-19 (Covid-19) की स्थिति को देखते हुए परीक्षा स्थगित करने की मांग की थी. हालांकि कॉलेज के अधिकारियों ने कहा कि परीक्षा के दौरान जांच, सामाजिक दूरी और स्वच्छता संबंधी सभी नियमों का पालन किया जाएगा. उन्होंने कहा कि परीक्षा वर्ष के पूर्वार्द्ध में होनी थी लेकिन कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार के चलते इसे टालना पड़ा.

नाम उजागर न करने की शर्त पर एक छात्र के रिश्तेदार ने कहा, ‘प्रबंधन ने छात्रों से कहा है कि वे सितंबर के पहले सप्ताह में कॉलेज पहुंच जाएं और दो सप्ताह तक क्वारंटाइन में रहें. इसके बाद तीसरे सप्ताह में परीक्षा में बैठें.’ उन्होंने कहा, ‘पुणे और पिंपरी चिंचवड में स्थिति के बारे में सभी को पता है. इसके अलावा कॉलेज परिसर में एक कोविड-19 पृथक-वास केंद्र भी है. इन सबके बावजूद कॉलेज छात्रों से उपस्थित होकर परीक्षा देने के लिए कह रहा है.’



परीक्षा कराने के लिए उठाए सभी एहतियाती कदम
परिजन के मुताबिक छात्रों से कहा गया है कि वे अपना शहर छोड़ने से पहले कोरोना वायरस जांच करवाएं. कालेज डॉ डी वाई पाटिल विद्यापीठ डीम्ड विश्वविद्यालय से संबद्ध है. यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ एन जे पवार ने आश्वासन दिया है कि कॉलेज ने बीडीएस और एमडीएस के 150 से अधिक छात्रों की परीक्षा कराने के लिए सभी एहतियाती कदम उठाए हैं. उन्होंने कहा, “मैं छात्रों और उनके माता-पिता को आश्वस्त करना चाहता हूं कि परीक्षा के दौरान कॉलेज में जांच, सामाजिक दूरी और स्वच्छता संबंधी सभी आवश्यक कदम उठाए जाएंगे.”

उन्होंने कहा, “हम मेडिकल पाठ्यक्रम की परीक्षा करवा चुके हैं और उनके नतीजे घोषित किए जा चुके हैं. परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले सभी छात्र संकट के इस समय काम कर रहे हैं.” उन्होंने कहा कि पृथक-वास में रहने के लिए छात्रावास उपलब्ध हैं. कुलपति ने कहा, “159 छात्रों को परीक्षा देने में कठिनाई नहीं होनी चाहिए क्योंकि 250 लोगों के बैठने की जगह उपलब्ध है.”
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading