लाइव टीवी
Elec-widget

भीमा कोरेगांव केस: गौतम नवलखा को झटका, पुणे की अदालत ने खारिज की जमानत याचिका

News18Hindi
Updated: November 12, 2019, 5:06 PM IST
भीमा कोरेगांव केस: गौतम नवलखा को झटका, पुणे की अदालत ने खारिज की जमानत याचिका
पिछले महीने सुप्रीम कोर्ट ने गौतम नवलखा की गिरफ्तारी से सुरक्षा को चार हफ्ते के लिए बढ़ा दिया था. (फाइल फोटो)

पिछले महीने 15 अक्टूबर को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने सामाजिक कार्यकर्ता गौतम नवलखा (Gautam Navlakha) को गिरफ्तारी से सुरक्षा की अवधि को चार हफ्ते के लिए और बढ़ा दिया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 12, 2019, 5:06 PM IST
  • Share this:
पुणे. भीमा-कोरेगांव हिंसा (Bhima Koregaon Violence) मामले में पुणे की सत्र अदालत (Pune Sessions Court) ने एक्टिविस्ट गौतम नवलखा (Activist Gautam Navlakha) की अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी है.

पिछले महीने 15 अक्टूबर को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने गौतम नवलखा को गिरफ्तारी से सुरक्षा की अवधि को चार हफ्ते के लिए और बढ़ा दिया था. कोर्ट ने गौतम नवलखा को अग्रिम जमानत के लिए संबंधित अदालत में जाने को कहा था.


क्या है पूरा मामला?
Loading...

बता दें यह मामला 2017 में भीमा-कोरेगांव में हुई हिंसा से जुड़ा हुआ है. जनवरी, 2018 में गौतम नवलखा  के खिलाफ प्राथमिकी (FIR) दर्ज कराई गई थी. जिसे निरस्त करने से कोर्ट ने 13 सितंबर को इनकार कर दिया था. इस मामले में गौतम नवलखा के साथ ही वरवरा राव, अरुण फरेरा, वर्णन गोन्साल्विज और सुधा भारद्वाज (Sudha Bharadwaj) भी आरोपी हैं. पुणे पुलिस ने 31 दिसंबर, 2017 को एलगार परिषद् (Elgar Parishad) के बाद एक दिसंबर को भीमा-कोरेगांव में हुई कथित हिंसा के लिए यह रिपोर्ट दर्ज की थी.

ये भी पढ़ें-

महाराष्‍ट्र में बदलते सियासी समीकरण पर बोले संजय निरुपम- जल्‍द चुनाव के लिए रहें तैयार

शिवसेना के हालात ऐसे, लड़ियो-झगड़ियो और छोटी बहू के गले पड़ियो: दुष्यंत चौटाला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Pune से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 12, 2019, 4:37 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...