अपना शहर चुनें

States

अमेरिकी संसद भवन हिंसा से रामदास आठवले दुखी, बोले- ट्रंप से बात करूंगा, हमारी पार्टी का नाम खराब हो रहा

रामदास आठवले (फाइल फोटो)
रामदास आठवले (फाइल फोटो)

US Capitol Hill violence: रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (RPI) के अध्यक्ष रामदास आठवले (Ramdas Athawale) ने डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) पर उनकी पार्टी का नाम खराब करने के आरोप लगाए हैं. उन्होंने कहा कि वे ट्रंप से इस मामले पर बात करेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 9, 2021, 8:19 AM IST
  • Share this:
मुंबई. अमेरिकी में संसद भवन में बीते गुरुवार को हुई हिंसा पर दुनिया के कई नेताओं ने प्रतिक्रिया दी है. अब इस हिंसा की निंदा करने वालों में भारतीय रिपब्लिकन पार्टी के नेता रामदास आठवले (Ramdas Athawale) का नाम भी शामिल हो गया है. उन्होंने डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) समर्थकों की इस हिंसा को गलत ठहराया है. वहीं उन्होंने ट्रंप के बर्ताव पर भी सवाल उठाए हैं. उन्होंने ट्रंप को फोन पर समझाइश देने की बात कही है.

आठवले ने ट्रंप पर रिपब्लिकन पार्टी की छवि खराब करने के आरोप लगाए हैं. उन्होंने कहा कि वे ट्रंप से इस मामले पर बात करेंगे. आठवले नासिक में पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे. इस दौरान उन्होंने कहा कि ट्रंप का बर्ताव भी कुछ समय से ठीक नहीं है, जिसका असर पार्टी पर पड़ रहा है. आठवले के अनुसार, ट्रंप के बर्ताव के चलते उनकी पार्टी रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया की छवि प्रभावित हो रही है.


गुरुवार को कैपिटल हिल यानी संसद भवन में नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन को कार्यालय सौंपे जाने की प्रक्रिया चल रही थी. इसी दौरान बड़ी संख्या में पहुंचे ट्रंप समर्थक संसद के अंदर दाखिल हो गए. भीड़ की शक्ल में पहुंचे समर्थकों ने अंदर जमकर तोड़फोड़ की और हथियार भी चलाए गए. बवाल के दौरान हुई गोलीबारी भी हुई थी. वहीं, हमले में 4 लोगों की मौत हो गई थी.



यह भी पढ़ें: अमेरिका: डोनाल्ड ट्रंप का ऐलान- जो बाइडन के शपथग्रहण समारोह में नहीं होंगे शामिल

ट्रंप समर्थकों की भीड़ के चलते हुई हिंसा ने दुनियाभर का ध्यान अपनी ओर खींचा था. भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत कई वैश्विक नेताओं ने इस हिंसा की निंदा की थी. उसी वक्त ट्रंप के इस्तीफे और दफ्तर से बाहर किए जाने की मांग उठने लगी थी. गौरतलब है कि नवंबर में पूरे हुए चुनाव से मिले नतीजों के बाद भी ट्रंप ने हार मानने से इंकार कर दिया था. हालांकि, इस विरोध के बीच वे व्हाइट हाउस छोड़ने के लिए तैयार हो गए थे.

अमेरिकी सियासत में भी इस हिंसा का जबरदस्त विरोध हुआ था. कई व्हाइट हाउस सदस्यों ने इस्तीफे देने की बात कही थी. बीते शुक्रवार को अमेरिकी कैबिनेट में शिक्षा मंत्री बैट्सी डेवोस और ट्रांसपोर्ट मंत्री ऐलेन चाओ ने इस्तीफा दे दिया है. इस घटना को लेकर चाओ ने कहा कि वे हिंसा की खबर से काफी ज्यादा परेशान हैं. इसके अलावा भी कई राजनेताओं ने हिंसा से दुखी होकर इस्तीफा दे दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज