अवनि की मौत पर वन मंत्री बोले- कुपोषण से हुई मौतों पर मेनका गांधी क्यों नहीं देतीं इस्तीफा?

यवतमाल जिले में ‘आदमखोर’ बाघिन अवनी की पिछले हफ्ते मारे जाने को लेकर महिला व बाल विकास मंत्री ने मुनगंटीवार की आलोचना की थी. मेनका ने इसे ‘नृशंस हत्या और अपराध का मामला’ बताया था.

News18Hindi
Updated: November 6, 2018, 11:42 PM IST
अवनि की मौत पर वन मंत्री बोले- कुपोषण से हुई मौतों पर मेनका गांधी क्यों नहीं देतीं इस्तीफा?
मेनरा गांधी
News18Hindi
Updated: November 6, 2018, 11:42 PM IST
एक नरभक्षी बाघिन अवनि को मारे जाने को लेकर महाराष्ट्र के वन मंत्री सुधीर मुनगंटीवार और मेनका गांधी के बीच जारी झगड़ा मंगलवार को उस समय और बढ़ गया, जब बीजेपी नेता ने कुपोषण के कारण बच्चों की मौत को लेकर केंद्रीय मंत्री से ‘नैतिक आधार’ पर इस्तीफा मांगा.

यवतमाल जिले में ‘आदमखोर’ बाघिन अवनि की पिछले हफ्ते मारे जाने को लेकर महिला व बाल विकास मंत्री ने मुनगंटीवार की आलोचना की थी. मेनका ने इसे ‘नृशंस हत्या और अपराध का मामला’ बताया था.

मैं मेनका गांधी से बात करूंगा, मुनगंटीवार के इस्तीफे की जरूरत नहीं: फडणवीस

महाराष्ट्र के मंत्री ने मंगलवार को कहा, ‘केंद्रीय महिला और बाल विकास मंत्री ने मेरा इस्तीफा मांगा है, जबकि आदमखोर बाघिन की हत्या से मेरा कोई लेना-देना नहीं है.’

उन्होंने कहा, ‘मैंने जो नहीं किया उसको लेकर अगर मैं कोई नैतिक जिम्मेदारी लेता हूं, तो हमारी केंद्रीय नेता को भी उदाहरण पेश करना चाहिए. उनके कार्यकाल के दौरान कुपोषण से मरने वाले बच्चों के मामले की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफा दे देना चाहिए.’


उन्होंने कहा, ‘हम नैतिक आधार पर साथ-साथ इस्तीफा दे सकते हैं.’ हालांकि, मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा है कि इस मुद्दे पर वन मंत्री को इस्तीफा देने की जरूरत नहीं है.

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने बाघिन ‘अवनि’ की हत्या की घटना को दुखद करार देते हुए कहा कि इस मुद्दे पर वन मंत्री सुधीर मुनगंटीवार के इस्तीफे की जररुत नहीं है. वह केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी से खुद बातचीत करेंगे और जरूरत पड़ी तो जांच करवाएंगे. (एजेंसी इनपुट)
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर