लाइव टीवी

साईं बाबा की जन्मस्थली पाथरी या शिरडी, विवाद ने राजनीतिक रूप लिया
Maharashtra News in Hindi

Prashant LilaRamdas | News18Hindi
Updated: January 23, 2020, 12:34 PM IST
साईं बाबा की जन्मस्थली पाथरी या शिरडी, विवाद ने राजनीतिक रूप लिया
साईं बाबा की जन्मस्थली पाथरी या शिरडी

इस विवाद की शुरुआत पाथरी को जन्म स्थान घोषित करने की मांग से हुई. वहां के स्थानीय विधायक ने पहली बार पाथरी को जन्मस्थली घोषित करने की मांग की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 23, 2020, 12:34 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पिछले कुछ दिनों से शिरडी के साईं बाबा (Sai Baba Temple) की जन्मस्थली को लेकर विवाद चल रहा है. इससे पहले शिरडी बंद का ऐलान भी किया गया था. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बयान के बाद लोगों में गुस्सा दिख रहा है. इस विवाद की शुरुआत पाथरी को साईं बाबा (Sai Baba) का जन्म स्थान घोषित करने की मांग से हुई. वहां के स्थानीय विधायक ने पहली बार पाथरी को जन्मस्थली घोषित करने की मांग की थी. अब वहां के सांसद ने पाथरी को जन्मस्थली घोषित करने की मांग मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के सामने रखी है.

पिछले काफी दिनों से शिरडी या पाथरी, यह झगड़ा चल रहा है. राष्ट्रवादी कांग्रेस के विधायक बाबाजानी दुरानी द्वारा पाथरी को साईं बाबा की जन्मस्थली घोषित किये जाने की मांग की गई थी और उसी मीटिंग में 100 करोड़ रुपये पाथरी को देने की घोषणा मुख्यमंत्री द्वारा की गई थी. कांग्रेस के पूर्व नेता और वर्तमान में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेता राधाकृष्ण विखे पाटील की ताकत कम करने के लिए यह बात एक फिर उभर कर सामने आई.

पाथरी गांव के लोगों ने पाथरी को साईं बाबा की जन्मस्थली घोषित किया जाए ऐसा प्रस्ताव पास किया था. इस प्रस्ताव को राज्य सरकार को भी भेज दिया है. दो पार्टियां शिवसेना और राष्ट्रवादी कांग्रेस इस विवाद को हवा दे रही हैं. शिरडी और परभणी इन दोनों जगहों से लोकसभा में शिवसेना के सांसद हैं. मराठवाड़ा में अगर ऐसा ही झगड़ा चलता रहा तो भविष्य में भाजपा को इसमें कूदना पड़ेगा. और इसी कारण शिरडी बंद को भाजपा नेता राधाकृष्ण विखे पाटील ने समर्थन दिया था.



शिरडी विवाद सारे देश में चर्चा का विषय है. साईंबाबा के जन्म को लेकर काफी विवाद है लेकिन यहां पर स्थित मंदिर के कारण शिरडी शहर का संपूर्ण चेहरा बदल गया है. अगर पाथरी को जन्मस्थली घोषित किया जाता है तो शिरडी का महत्व कम हो जाएगा. ऐसा डर शिरडी के राजनेता और लोगों को लग रहा है. इसी कारण यह विवाद अब बहुत नेताओं के लिए अस्तित्व का सवाल बन गया है.



ये भी पढ़ें : फिर से विवादों में विश्वनाथ कॉरिडोर, बाबा का रजतमई सिंहासन मलबे में दबा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए महाराष्ट्र से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 23, 2020, 11:43 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading