Home /News /maharashtra /

Sameer Wankhede Row: दिल्ली से NCB मुंबई पहुंची टीम, दर्ज किया समीर वानखेड़े का बयान

Sameer Wankhede Row: दिल्ली से NCB मुंबई पहुंची टीम, दर्ज किया समीर वानखेड़े का बयान

समीर वानखेड़े पर 25 करोड़ में डील करने के आरोप लगे हैं. (Pic- PTI)

समीर वानखेड़े पर 25 करोड़ में डील करने के आरोप लगे हैं. (Pic- PTI)

स्वापक औषधि नियंत्रण ब्यूरो (NCB) ने क्रूज़ जहाज से मादक पदार्थ बरामदगी मामले में आरोपी आर्यन खान को छोड़ने के लिए एनसीबी की मुंबई क्षेत्रीय इकाई के निदेशक समीर वानखेड़े और कुछ अधिकारियों द्वारा 25 करोड़ रुपये मांगने संबंधी एक गवाह के दावे पर सतर्कता जांच के आदेश के बाद दिल्ली से टीम मुंबई पहुंची. एनसीबी के उत्तरी क्षेत्र के उप महानिदेशक (डीडीजी) ज्ञानेश्वर सिंह यह जांच करेंगे. सिंह, संघीय मादक पदार्थ रोधी एजेंसी के मुख्य सतर्कता अधिकारी (सीवीओ) भी हैं. मामले में 'स्वतंत्र गवाह' प्रभाकर साईल ने दावा किया है कि एनसीबी के एक अधिकारी और अन्य कुछ लोगों ने मामले में आरोपी आर्यन खान को छोड़ने के लिए 25 करोड़ रुपये की मांग की थी.

अधिक पढ़ें ...

    मुंबई. स्वापक नियंत्रण ब्यूरो (NCB) के मुंबई दफ्तर के क्षेत्रीय निदेशक समीर वानखेड़े (Sameer Wankhede) के खिलाफ विजिलेंस की जांच के लिए टीम ने बुधवार को उनका बयान दर्ज किया. मिली जानकारी के अनुसार NCB के दफ्तर में ही वानखेड़े का बयान दर्ज हो रहा है. बता दें वानखेड़े का बयान दर्ज करने के लिए विजिलेंस की टीम दिल्ली से आई है. दिल्ली से विजिलेंस की टीम में डीडीजी ज्ञानेश्वर सिंह के अलावा, NCB दिल्ली हेडक्वार्टर की सुपरिटेंडेंट महक जैन, NCB दिल्ली हेडक्वार्टर के इंटेलिजेंस अधिकारी कपिल और दिल्ली हेडक्वार्टर के ही दो अन्य अधिकारी NCB मुंबई के दफ्तर में हैं. बयान दर्ज किए जाने के बाद समीर वानखेड़े मुंबई NCB दफ्तर से निकल गए.

    बताया जा रहा है बांद्रा इलाके के CRPF मेस को NCB विजिलेंस टीम ने अपना कैंप ऑफिस बनाया हुआ है जबकि DDG ज्ञानेश्वर सिंह मुंबई बांद्रा इलाके के एक होटल में रुकेंगे. बता दें एनसीबी ने आर्यन खान को छोड़ने के बदले में एजेंसी के मुंबई मंडल के निदेशक समीर वानखेड़े समेत कुछ अधिकारियों द्वारा 25 करोड़ रुपये की वसूली मांगने के एक गवाह के दावों की सतर्कता जांच के आदेश दिए थे. इसके बाद दिल्ली की टीम मुंबई पहुंची.

    नवाब मलिक के खिलाफ याचिका पर तत्काल सुनवाई से इनकार
    उधर, बॉम्बे हाई कोर्ट ने नवाब मलिक के खिलाफ दायर की याचिका पर अर्जेंट सुनवाई से इनकार कर दिया. कोर्ट ने इस मामले पर याचिकाकर्ता को दीवाली वेकेशन के बाद सुनवाई होने या वेकेशन बेंच के पास जाने को कहा. याचिका नवाब मलिक द्वारा समीर वानखेड़े पर किए जा रहे कमेंट को रोकने के लिए दायर की गई है. इस याचिका में कहा गया है कि नवाब मलिक सिर्फ समीर वानखेड़े और उनके परिवार को बदनाम करने और उनके हौसला तोड़ने की कोशिश कर रहे हैं.

    बॉम्बे हाई कोर्ट में मंगलवार को जनहित याचिका दाखिल करने वाले कौसर अली ने खुद को मौलवी और नशा करने वालों के पुनर्वास के लिए काम करने वाला व्यक्ति बताया है. अली ने बॉम्बे हाई कोर्ट से मलिक को एनसीबी या आर्यन खान मामले से जुड़ी किसी अन्य जांच एजेंसी और ऐसी एजेंसियों के अधिकारियों के खिलाफ कोई टिप्पणी नहीं करने का निर्देश देने का आग्रह किया है. याचिकाकर्ता का कहना है कि इस तरह की बयानबाजी से जांच एजेंसियों का मनोबल गिरेगा और नशीली दवाओं के उपयोग को बढ़ावा मिलेगा.

    Tags: Maharashtra, Mumbai, Nawab Malik, NCB, NCP, Sameer Wankhede

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर