फडणवीस और राउत की मुलाकात पर संजय निरुपम का तंज, कहा- शिवसेना देगी कांग्रेस को धोखा

कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने पार्टी को शिवसेना से किया आगाह.. (File Photo)
कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने पार्टी को शिवसेना से किया आगाह.. (File Photo)

कांग्रेस (Congress) नेता संजय निरुपम (Sanjay Nirupam) ने कहा कि केंद्र के किसान बिल (Farm Bill) का संसद के दोनों सदनों में कांग्रेस और एनसीपी ने विरोध किया, जबकि शिवसेना (Shiv Sena) प्रमुख और राज्य के मुख्यमंत्री ने बिल का समर्थन किया. शिवसेना की भूमिका हमेशा से ही भ्रमित करने वाली होती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 27, 2020, 7:21 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) और शिवसेना (Shiv Sena) नेता संजय राउत (Sanjay Raut) की मुलाकात ने राजनीतिक गलियारों में हलचल तेज कर दी है. देवेंद्र फडवीस का इस तरह संजय राउत से मिलना अब कांग्रेस (Congress) को भी खटकने लगा है. कांग्रेस नेता संजय निरुपम (Sanjay Nirupam) ने इस मुलाकात पर सवाल उठाते हुए कहा है कि ये मुलाकात शिवसेना का राजनीतिक व्यभिचार है.

कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने कहा, 'केंद्र के किसान बिल का संसद के दोनों सदनों में कांग्रेस और एनसीपी ने विरोध किया, जबकि शिवसेना प्रमुख और राज्य के मुख्यमंत्री ने बिल का समर्थन किया. शिवसेना की भूमिका हमेशा से ही भ्रमित करने वाली होती है. मेरा कहना है कि कांग्रेस ने अपने विचार, धर्म, व्यवहार सबकुछ छोड़कर सत्ता में भागीदार बनने के लिए जिसके साथ भागीदारी की है, वो शिवसेना कभी भी धोखा दे सकती है.'





इससे पहले देवेंद्र फडणवीस से मुलाकात को लेकर चल रही अटकलों पर संजय राउत ने कहा है कि वे हमारे दुश्मन नहीं हैं. हम लोगों ने सरकार में साथ काम किया है. हमारी मुलाकात सामना को लेकर हुई थी. देवेंद्र फडणवीस से मेरी मुलाकात के बारे में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पहले से जानकारी है. हम लोगों के बीच ​विचारधारा का अंतर हो सकता है, लेकिन हम एक दूसरे के दुश्मन नहीं है.
इससे पहले एनडीए से अकाली दल के अलग होने पर संजय राउत ने कहा था कि यह बीजेपी के लिए बड़ा झटका है. उन्‍होंने कहा कि शिवसेना और अकाली दल के बिना एनडीए अपूर्ण है. ये दोनों उसके मजबूत स्‍तंभ थे.

इसे भी पढ़ें :- देवेंद्र फडणवीस से मुलाकात के बाद बोले संजय राउत- हम दुश्मन नहीं, पीएम मोदी हमारे भी नेता हैं

भाजपा ने कहा मुलाकात के कोई मायने नहीं
महाराष्ट्र भाजपा के मुख्य प्रवक्ता केशव उपाध्ये ने कहा कि इस मुलाकात के कोई राजनीतिक मायने नहीं है. शिवसेना और भाजपा ने पिछले साल विधानसभा चुनाव मिलकर लड़ा था, लेकिन चुनाव के बाद सत्ता में साझेदारी को लेकर उद्धव ठाकरे नीत पार्टी बीजेपी का साथ छोड़ गई थी और एनसीपी व कांग्रेस के साथ मिलकर महाराष्ट्र में सरकार बना ली थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज