अपना शहर चुनें

States

बैंक घोटाला केस में आज ED के सामने पेश नहीं होंगी संजय राउत की पत्‍नी, 5 जनवरी तक मांगा समय

संजय राउत की पत्‍नी से पूछताछ करना चाहता है ईडी. (File pic)
संजय राउत की पत्‍नी से पूछताछ करना चाहता है ईडी. (File pic)

वर्षा राउत (Varsha Raut) को प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने पूछताछ के लिए 29 दिसंबर को बुलाया था. यह उनको पेश होने के लिए जारी किया गया तीसरा समन था, इससे पहले वह दो बार स्वास्थ्य आधार पर भी एजेंसी के सामने पेश नहीं हुई थीं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 29, 2020, 7:50 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. पीएमसी बैंक मनी लॉन्ड्रिंग केस (PMC Bank Scam) में शिवसेना सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) की पत्‍नी वर्षा राउत (Varsha Raut) मंगलवार को पूछताछ के लिए प्रवर्तन निदेशालय (ED) के सामने पेश नहीं होंगी. उन्‍होंने पीएमसी बैंक घोटाला मामले में पेशी के लिए एजेंसी से 5 जनवरी तक का समय मांगा है. उन्‍हें प्रवर्तन निदेशालय ने पूछताछ के लिए 29 दिसंबर को बुलाया था. यह उनको पेश होने के लिए जारी तीसरा समन था, इससे पहले वह दो बार स्वास्थ्य आधार पर भी एजेंसी के सामने पेश नहीं हुईं. पूछताछ के लिए उन्हें मनी लॉन्ड्रिंग प्रिवेंशन एक्‍ट (पीएमएलए) के प्रावधानों के तहत समन जारी किया गया है.

वहीं शिवसेना के सांसद संजय राउत ने सोमवार को आरोप लगाया था कि महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली सरकार को अस्थिर करने के लिए केंद्रीय एजेंसियों का इस्तेमाल किया जा रहा है. राउत ने कहा कि बीजेपी नेताओं के पास कांग्रेस और राकांपा के 22 विधायकों की सूची है जिनके बारे में दावा था कि केंद्रीय जांच एजेंसियों के दबाव में वे इस्तीफा दे देंगे.








राउत ने कहा, 'बीजेपी के कुछ नेता पिछले एक साल से मुझसे संपर्क कर कह रहे हैं कि उन्होंने महाराष्ट्र सरकार को अस्थिर करने के लिए सारे इंतजाम कर लिए हैं. सरकार का समर्थन नहीं करने के लिए वे मुझपर दबाव बना रहे हैं और धमका रहे हैं.'

सूत्रों ने दावा किया था कि ईडी वर्षा राउत से उस राशि की रसीद के बारे में पूछताछ करना चाहता है जिसका कथित तौर पर बैंक से गबन किया गया था. ईडी ने पिछले साल अक्टूबर में पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव (पीएमसी) बैंक में कथित ऋण धोखाधड़ी की जांच के लिए हाउजिंग डेवलपमेंट इन्फ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (एचडीआईएल), उसके प्रमोटर राकेश कुमार वधावन और उनके बेटे सारंग वधावन, उसके पूर्व अध्यक्ष वी सिंह और पूर्व प्रबंध निदेशक जॉय थॉमस के खिलाफ पीएमएलए के एक मामला दर्ज किया था.

एजेंसी ने पीएमसी बैंक को कथित रूप से प्रथम दृष्टया गलत तरीके से 4,355 करोड़ रुपये का नुकसान और खुद को लाभ पहुंचाने के लिए उनके खिलाफ मुंबई पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा द्वारा दर्ज प्राथमिकी पर संज्ञान लिया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज