महाराष्ट्र में दिवाली के बाद खुलेंगे स्कूल और धार्मिक स्थल, ठाकरे ने कहा- पटाखों की जगह दीये जलाएं

उद्धव ठाकरे ने लोगों से अपील की कि वह दीपावली पर पटाखों की जगह दीये जलाएं.  (ANI Photo)
उद्धव ठाकरे ने लोगों से अपील की कि वह दीपावली पर पटाखों की जगह दीये जलाएं. (ANI Photo)

Maharashtra: महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के केस देश भर में सबसे अधिक हैं. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने लोगों से पटाखे न जलानें और मास्क पहनने की अपील की है जिससे कि कोविड-19 संक्रमण को नियंत्रण में रखा जा सके.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 9, 2020, 8:45 PM IST
  • Share this:
मुंबई. दिवाली (Diwali) के बाद से तमाम एहतियातों के साथ महाराष्ट्र (Maharashtra) में स्कूल खोले जाएंगे. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Maharashtra's CM Uddhav Thackeray) ने रविवार को यह जानकारी दी. उद्धव ठाकरे ने कहा कि दिवाली के बाद से हम सभी एहतियातों को बरतते हुए स्कूलों को खोलने जा रहे हैं. इसके अलावा धार्मिक स्थलों को भी खोला जाएगा. बता दें महाराष्ट्र में धार्मिक स्थलों को खोले जाने को लेकर काफी विवाद हुआ था. दिवाली के बाद होने वाले प्रदूषण को लेकर उद्धव ठाकरे ने कहा कि प्रदूषण कोविड-19 (Covid-19) के असर को बढ़ा सकता है. ठाकरे ने लोगों से अपील की कि वह दीपावली पर पटाखों की जगह दीये जलाएं.

ठाकरे ने कहा कि लोगों को पटाखे चलाने से बचना चाहिए, क्योंकि इससे होने वाले प्रदूषण से कोविड-19 मरीजों की हालत बिगड़ सकती है. उन्होंने कहा कि दिवाली के बाद के 15 दिन अहम होंगे, हमें ध्यान रखना होगा ताकि फिर से लॉकडाउन (Lockdown) लगाने की जरूरत न पैदा हो. मास्क को जरूरी बताते हुए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने कहा कि भीड़ में बिना मास्क के घूमने वाला कोविड-19 का मरीज करीब 400 लोगों को संक्रमित कर सकता है. उद्धव ठाकरे ने लोकल ट्रेन सेवाओं को लेकर कहा कि हम केंद्र से आम लोगों के लिए लोकल ट्रेन सेवा शुरू करने की अपील कर रहे हैं. इस पर जल्द ही फैसला लिया जाएगा.

ये भी पढ़ें- LAC पर तनाव कम करने के लिए भारत और चीन सहमत, जल्द होगी एक और बैठक



स्कूलों को लेकर मुख्यमंत्री ने दिए थे दिशानिर्देश
इससे पहले शनिवार को उद्धव ठाकरे और राज्य की स्कूल शिक्षा मंत्री ने स्कूलों को लेकर कुछ अहम निर्देश भी लोगों से साझा किए थे. महाराष्ट्र की स्कूल शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने कहा कि राज्य के स्कूलों में 9 वीं से 12 वीं कक्षाओं के छात्रों के लिए स्कूल 23 नवंबर से फिर खुल जाएंगे. गायकवाड़ ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे द्वारा आयोजित एक वीडियो कांफ्रेंस में यह घोषणा की. ठाकरे ने कहा कि 9वीं से 12वीं की कक्षाएं कोविड-19 संबंधी दिशानिर्देशों के साथ दिवाली के बाद फिर से शुरू होंगी.

मुख्यमंत्री ने आगाह किया कि दुनिया में अन्य जगह की स्थिति को देखते हुए कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) की दूसरी लहर की आशंका बनी हुयी है, इसलिए प्रशासन को सतर्क रहना चाहिए. उन्होंने कहा, ‘‘हमें दिवाली के बाद अतिरिक्त सतर्कता बरतने की जरूरत है. स्कूलों में पृथकवास केंद्रों को बंद नहीं किया जा सकता. स्थानीय प्रशासन कक्षाओं के लिए वैकल्पिक स्थानों के बारे में निर्णय ले सकता है. स्कूलों की साफ-सफाई, शिक्षकों की कोरोना वायरस जांच और अन्य सावधानियां बहुत जरूरी हैं.’’

ये भी पढ़ें- दिल्ली में कोरोना का सबसे बुरा दौर, थर्ड फेज चरम पर: सत्येन्द्र जैन

ठाकरे ने कहा कि जो छात्र बीमार हैं या जिनके परिवार के सदस्य बीमार हैं, उन्हें स्कूल नहीं भेजा जाना चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज