लाइव टीवी

अयोध्या मुद्दे पर आने वाले फैसले पर बोले शरद पवार- देश के सामने खड़ी हो सकती है बड़ी समस्या

News18Hindi
Updated: October 30, 2019, 8:18 PM IST
अयोध्या मुद्दे पर आने वाले फैसले पर बोले शरद पवार- देश के सामने खड़ी हो सकती है बड़ी समस्या
शरद पवार की पार्टी ने महाराष्ट्र चुनाव में अच्छा प्रदर्शन किया और कांग्रेस को चौथे स्थान पर धकेल दिया. फाइल फोटो: पीटीआई

शरद पवार (Sharad Pawar) ने कहा, 6 नवंबर को अयोध्या में जमीन विवाद के मामले (Ayodhya verdict) में फैसला आ सकता है. देश में कुछ ऐसी ताकते हैं, जो इसके बाद अपनी ताकत का इस्तेमाल माहौल को बिगाड़ने में कर सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 30, 2019, 8:18 PM IST
  • Share this:
मुंबई. विधानसभा चुनावों के बाद महाराष्ट्र की राजनीति में एक बार फिर से अपनी ताकत का अहसास कराने वाले एनसीपी के मुखिया शरद पवार (Sharad Pawar) ने सरकार पर तीखा हमला बोला है. शरद पवार ने राम मंदिर (Ram Mandir) पर आने वाले फैसले पर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि आने वाले दिनों में देश के सामने बड़ी समस्या खड़ी हो सकती है.

शरद पवार (Sharad Pawar) ने कहा, 6 नवंबर को अयोध्या में जमीन विवाद के  मामले (Ayodhya verdict) में फैसला आ सकता है. देश में कुछ ऐसी ताकते हैं, जो इसके बाद अपनी ताकत का इस्तेमाल माहौल को बिगाड़ने में कर सकते हैं. वह दो समुदायों के बीच दूरियां बढ़ा सकते हैं. पवार ने इस फैसले के बाद देश में अप्रिय घटना की आशंका भी जताई. उन्होंने कहा, अब सरकार का काम है कि वह किस तरह से फैसले के बाद शांति और भाईचारे को बनाए रखेगी.

शरद पवार (Sharad Pawar) ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, जब लोग बेरोजगारी की बात करते हैं, आत्महत्या की बात करते हैं तो सरकार सिर्फ अनुच्छेद 370 की बात करती है. इंडस्ट्री बंद हो रही हैं और वह 370 की बात कर रहे हैं. मोदी कह रहे हैं 'डूब मरो.' जब वह असफल होते हैं तो वह लोगों का ध्यान बंटाना शुरू कर देते हैं. वह लोगों की समस्याएं खत्म करने के प्रति गंभीर नहीं हैं.

शरद पवार ने कहा, महाराष्ट्र में बेरोजगारी चरम पर है, हर जगह कारखाने बंद हो रहे है, सारे कारखाने शुरु होने चाहिए, इसके लिए जो जो करना चाहिए, करिए. हर दिन 11 लोगों की मौत हो रही है. इसके लिए क्या करना चाहिए उसको देखो और शहरी क्षेत्रो में क्या करना चाहिए उस पर ध्यान दो. राष्ट्रीयता उनके लिए एक मुद्दा था और लोगों ने उसे स्वीकारा इसे हम नकार नहीं सकते हैं. अगर कुछ लोग समाज समाज में भेद करने की कोशिश करेंगे तो आप की जिम्मेदारी है कि शांति भंग ना हो. सरकार को जब महत्वपूर्ण मुद्दे पर जबाब देना होता है तो 370 को आगे करते हैं.

यह भी पढ़ें...
बीजेपी-शिवसेना विवाद खत्म होने के संकेत, संजय राउत बोले- 'निजी फायदा महत्व नहीं रखता, राज्य जरूरी' 

फिर गायब हुए राहुल गांधी, सुरजेवाला बोले- विपश्यना पर गए हैं, जल्दी लौटेंगे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 30, 2019, 8:16 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...