• Home
  • »
  • News
  • »
  • maharashtra
  • »
  • SHARAD PAWAR SAYS MAHA VIKAS AGHADI GOVERNMENT WILL COMPLETE ITS TENURE IN MAHARASHTRA

शरद पवार ने अटकलों को किया खारिज, कहा- शिवसेना ऐसी पार्टी जिस पर कर सकते हैं भरोसा

पवार ने कहा कि महाराष्ट्र में महा विकास आघाड़ी सरकार कार्यकाल पूरा करेगी (File Photo)

शरद पवार ने यह भी कहा कि महाराष्ट्र विकास आघाड़ी (शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस) अगले विधानसभा और लोकसभा चुनावों में अच्छा प्रदर्शन करेगा.

  • Share this:
    मुंबई. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी  (NCP) के अध्यक्ष शरद पवार (Sharad Pawar) ने गुरुवार को कहा कि महाराष्ट्र में महा विकास आघाड़ी (एमवीए) सरकार अपना कार्यकाल पूरा करेगी. उन्होंने सहयोगी दल शिवसेना की प्रशंसा करते हुए कहा कि उस पर भरोसा किया जा सकता है. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की मंगलवार को नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात और पवार की पिछले सप्ताह भाजपा नेता और पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से मुलाकात की पृष्ठभूमि में राकांपा अध्यक्ष के ये बयान आये हैं.

    राकांपा के 22वें स्थापना दिवस समारोह को संबोधित करते हुए पवार ने यह भी कहा कि महाराष्ट्र विकास आघाड़ी (शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस) अगले विधानसभा और लोकसभा चुनावों में अच्छा प्रदर्शन करेगा. उन्होंने संकेत दिया कि तीनों दल 2024 में होने वाला चुनाव साथ में लड़ सकते हैं.

    सरकार अपना कार्यकाल पूरा करेगी- पवार
    उन्होंने कहा कि संशय पैदा किया जा रहा है कि राज्य सरकार कितने समय तक चल पाएगी. पवार ने कहा, ‘लेकिन शिवसेना ऐसा दल है जिस पर भरोसा किया जा सकता है. बालासाहब ठाकरे ने इंदिरा गांधी के प्रति अपने वचन का सम्मान किया था. सरकार अपना कार्यकाल पूरा करेगी और अगले लोकसभा तथा विधानसभा चुनावों में भी अच्छा प्रदर्शन करेगी.’

    पवार ने कहा, ‘हमने अलग-अलग विचारधाराओं वाले दलों की सरकार बनाई. हमने कभी नहीं सोचा था कि एक दिन शिवसेना के साथ सरकार बनाएंगे क्योंकि हमने कभी मिलकर काम नहीं किया था. लेकिन अनुभव अच्छा है और तीनों दल कोविड-19 महामारी के दौरान मिलकर बेहतर काम कर रहे हैं.'

    व्यक्तिगत संबंधों को महत्व दिया है: शिवसेना
    वहीं शिवसेना ने बुधवार को कहा कि उसने राजनीतिक संबंधों की परवाह किये बगैर हमेशा व्यक्तिगत संबंधों को महत्व दिया है और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच मंगलवार की मुलाकात व्यक्तिगत संबंधों के साथ-साथ प्रोटोकॉल का भी हिस्सा थी. प्रधानमंत्री के साथ अपनी बैठक के बाद, ठाकरे ने मंगलवार को कहा था कि इस तरह की बातचीत करने में कुछ भी गलत नहीं है. उन्होंने मजाकिया लहजे में कहा था कि वह पाकिस्तानी नेता नवाज शरीफ से मिलने नहीं गए थे.

    शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ में एक संपादकीय में कहा गया है, ‘मुख्यमंत्री का दिल्ली दौरा राजनीतिक कारणों से नहीं था. जो लोग इसमें राजनीति देखते हैं..... उन्हें अपनी सोच से खुश होने दें. इस बैठक को लेकर बहुत सारी अटकलें होंगी. हम केवल यह उम्मीद करते हैं कि महाराष्ट्र के साथ लंबित मुद्दे केंद्र जल्द हल करे.’

    ठाकरे ने अपने मंत्रिमंडल सहयोगियों के एक प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व किया था जिसमें उपमुख्यमंत्री और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के वरिष्ठ नेता अजित पवार, और कांग्रेस के नेता अशोक चव्हाण शामिल थे. प्रतिनिधिमंडल ने मोदी से मुलाकात की थी और राज्य से संबंधित मुद्दों पर चर्चा की गई थी. यह बैठक डेढ़ घंटे चली थी और ठाकरे ने प्रधानमंत्री के साथ अकेले में भी बैठक की थी.