Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    शिवसेना ने योगी सरकार को घेरा, कहा- अयोध्या में बन रहा है राम मंदिर, लेकिन इंदर 'राम' ने हिन्दू धर्म ही छोड़ दिया

    योगी सरकार पर शिवसेना ने निशाना साधा है.
    योगी सरकार पर शिवसेना ने निशाना साधा है.

    शिवसेना (Shiv Sena) ने धर्मांतरण के मामले में कहा कि अयोध्या में हिंदुत्व का राम मंदिर तैयार हो रहा है लेकिन इंदर ‘राम’ ने हिंदू धर्म ही छोड़ दिया.

    • News18Hindi
    • Last Updated: October 25, 2020, 10:51 AM IST
    • Share this:
    मुंबई. शिवसेना (Shiv sena) ने हाथरस गैंगरेप (Hathras Gangrape) पर उत्‍तर प्रदेश की योगी सरकार (Yogi Government) पर अपने मुखपत्र सामना में निशाना साधा है. शिवसेना ने दशहरा पर्व के बहाने यह हमला बोला है. शिवसेना ने इस दौरान कहा कि उत्तर प्रदेश के हाथरस में बलात्कार की घटना हुई. एक वाल्मीकि समाज की लड़की के साथ हुए रेप और हत्या की घटना ने देश के चरित्र के चीथड़े ही बाहर निकल दिए. उसके बाद वहां का हिंदू-दलित समाज प्रचंड दहशत में जीने लगा है.

    शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में कहा है कि उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में 250 दलितों ने हिंदू धर्म त्यागकर बौद्ध धर्म स्वीकार कर लिया है. धर्मांतरण करनेवालों में 65 साल के इंदर राम भी हैं. दिल्ली के शाहदरा इलाके में वह रहते हैं. हाथरस प्रकरण के बाद उत्तर प्रदेश के हिंदू दलितों को सामाजिक बहिष्कार का सामना करना पड़ा.

    शिवसेना ने आगे कहा, 'अयोध्या में हिंदुत्व का राम मंदिर तैयार हो रहा है लेकिन इंदर ‘राम’ ने हिंदू धर्म ही छोड़ दिया. दशहरे पर हिंदुत्व की पालकियां निकाली जाएंगी. विचारों का सीमा उल्लंघन होगा लेकिन जाति प्रथा से ऊबकर हिंदू समाज धर्मांतरण कर रहा है.'

    पाकिस्‍तान में हिंदुओं की स्थिति पर शिवसेना ने कहा, 'पाकिस्तान के हिंदुओं के प्रति चिंता व्यक्त करने की राजनीति आसान है. हमारी आंखों के सामने इंदर राम हिंदू धर्म का त्याग कर रहा है. यह दशहरा हमेशा से सचमुच अलग है. सबकुछ शांत है लेकिन हिंदू धर्म अस्वस्थ है. दशहरा के उपलक्ष्य में इसका सीमा उल्लंघन होने दो.'



    बता दें कि यूपी के हाथरस में पिछले दिनों एक गांव की युवती के साथ कथित तौर पर रेप और हत्‍या किए जाने का मामला सामने आया था. पीडि़ता ने दिल्‍ली के अस्‍पताल में दम तोड़ दिया था. इसके बाद इस मामले ने तूल पकड़ लिया था. बाद में इस घटना की जांच सीबीआई को सौंपी गई है.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज