• Home
  • »
  • News
  • »
  • maharashtra
  • »
  • मुंबई रेप को शिवसेना ने कहा जौनपुर पैटर्न तो BJP विधायक ने लगाया ओछी राजनीति का आरोप

मुंबई रेप को शिवसेना ने कहा जौनपुर पैटर्न तो BJP विधायक ने लगाया ओछी राजनीति का आरोप

बीजेपी विधायक रमेश मिश्रा ने शिवसेना पर हमला बोला है. (File pic)

बीजेपी विधायक रमेश मिश्रा ने शिवसेना पर हमला बोला है. (File pic)

Mumbai Rape Case: साकीनाका रेप और मर्डर केस में मुंबई पुलिस ने यूपी के जौनपुर के रहने वाले आरोपी को गिरफ्तार किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    मंबई. शिवसेना (Shiv Sena) ने मुंबई के साकीनाका के उपनगरीय इलाके में एक महिला के साथ हुए बलात्कार (Mumbai Rape Case) और उसकी नृशंस हत्या के मामले में सोमवार को कहा कि केस की गहन जांच से पता चलेगा कि मुंबई में जौनपुर पैटर्न (Jaunpur Pattern) ने कितनी गंदगी पैदा कर दी है. शिवसेना के मुखपत्र सामना के संपादकीय में कहा गया है कि पुलिस अपना काम कर रही है. पार्टी ने मामले का राजनीतिकरण करने के प्रयासों की भी निंदा की. वहीं यूपी के जौनपुर के बीजेपी विधायक ने शिवसेना पर ओछी राजनीति करने का आरोप लगाया है.

    साकीनाका रेप और मर्डर केस में मुंबई पुलिस ने यूपी के जौनपुर के रहने वाले आरोपी को गिरफ्तार किया है. जौनपुर के बदलापुर सीट से बीजेपी विधायक रमेश मिश्रा ने कहा है कि उनकी संवेदनाएं पीडि़त परिवार के साथ हैं. लेकिन जिस तरह शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में इसपर लिखा है, वो ओछी राजनीति को दर्शा रहा है.

    बीजेपी विधायक रमेश मिश्रा ने कहा है कि रेप के आरोपी के गृह जिले के आधार पर पूरे जौनपुर को बदनाम करना निंदनीय है. जौनपुर से ही सबसे ज्यादा आईएएस और आईपीएस भी निकलते हैं. उन्‍होंने यह भी कहा कि ऐसा लिखकर महाराष्‍ट्र सरकार अपनी नाकामी छिपा रही है.

    उन्‍होंने कहा कि मुंबई को विकसित करने में जौनपुर के कई लोगों का योगदान रहा है. इस बात का दर्द होता है कि बाला साहब ठाकरे ने हिंदुत्व के झंडे को बुलंद किया, लेकिन उनके बेटे मुस्लिम वोटर्स को खुश करने के लिए ओछी राजनीति करने में जुटे हैं.

    इसके साथ ही बीजेपी की राज्य इकाई के उपाध्यक्ष कृपाशंकर सिंह ने इस पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि एक ऐसा बयान जिसमें बलात्कार और हत्या के मामले को जिला पैटर्न कहा गया हो, वह निंदनीय है.

    सिंह ने कहा, ‘आरोपी का कोई धर्म, जाति और क्षेत्र नहीं होता उसे कड़ी सजा दी जानी चाहिए.’ उन्होंने कहा कि जौनपुर वही जिला है जहां स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान 21 युवाओं ने अपनी जान दी थी और जिले के एक गांव में 40 युवा आईएएस अधिकारी बने हैं. वहीं आरोपी के पिता ने पूरे मामले में बयान दिया है कि उनका उनके बेटे से कोई लेनादेना नहीं है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज