शिवसेना ने विखे पाटिल के बहाने बीजेपी पर साधा निशाना, सामना में लिखा- वे किसी पार्टी के वफादार नहीं रहते
Maharashtra News in Hindi

शिवसेना ने विखे पाटिल के बहाने बीजेपी पर साधा निशाना, सामना में लिखा- वे किसी पार्टी के वफादार नहीं रहते
राधाकृष्ण विखे पाटिल (फोटो सौ.- @RVikhePatil)

राधाकृष्ण विखे पाटिल (Radhakrishna Vikhe Patil) पिछले साल जुलाई में बीजेपी में शामिल हुए थे. विधानसभा चुनाव में वह भाजपा के टिकट पर शिर्डी विधानसभा क्षेत्र से दोबारा विधायक चुने गए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 22, 2020, 10:01 AM IST
  • Share this:
मुंबई. शिवसेना ने राधाकृष्ण विखे पाटिल (Radhakrishna Vikhe Patil) के बहाने बीजेपी पर बोला हमला किया है. मुखपत्र सामना में लिखा है कि विखे पाटिल जिस भी पार्टी में जाते हैं, उसके प्रति वफादार नहीं रहते हैं. पाटिल कांग्रेस छोड़ने के बाद पिछले साल जुलाई में बीजेपी में शामिल हुए थे. विधानसभा चुनाव में वो भाजपा के टिकट पर शिर्डी विधानसभा क्षेत्र से दोबारा विधायक चुने गए, लेकिन भाजपा के सत्ता में न आने की वजह से उन्हें मंत्री पद नहीं मिल सका.

'कुछ लोग मछली की तरह तड़पते हैं'
सामना में विखे पाटिल पर निशाना साधते हुए लिखा गया है, 'सत्ता न होने पर कुछ लोग मछली की तरह तड़पते हैं, और विखे पाटिल उसी दल के प्रतिनिधि हैं कुछ दल बदलुओं की वजह से राज्य में विपक्ष ने अपनी छवि धूमिल कर ली है. दरअसल विखे पाटिल ने बाला साहेब थोराट पर हमला करते हुए कहा था कि सत्ता के लिए इतना लाचार किसी कांग्रेसी प्रदेश अध्यक्ष को नहीं देखा, जिसके बाद शिवसेना थोराट के समर्थन में खड़ी हुई है.

ये भी पढ़ें:- सेना को लेकर 2018 में ​लिया गया सरकार का फैसला अब चीन के लिए बनेगा मुसीबत!
फडणवीस पर भी निशाना


सामना में महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस पर भी निशाना साधा गया है. अखबार ने लिखा है, 'हम फडणवीस के जुनून और बेकरारी को समझ सकते हैं. एक बार कोरोना का टीका मिल सकता है, लेकिन विपक्ष की इस बेचैनी का हल मुश्किल है. फडणवीस खुद बीजेपी-संघ के सौ नम्बरी नेता हैं और ऐसे में बीजेपी की गोद में बैठकर ठाकरे सरकार की आलोचना करने वाले दल- बदलुओं पर आश्चर्य होता है.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading