लाइव टीवी

महाराष्ट्र: शिवसेना को हॉर्स ट्रेडिंग का डर, अपने विधायकों को होटल में किया शिफ्ट

News18Hindi
Updated: November 7, 2019, 4:02 PM IST
महाराष्ट्र: शिवसेना को हॉर्स ट्रेडिंग का डर, अपने विधायकों को होटल में किया शिफ्ट
शिवसेना की मातोश्री में हुई विधायक दल की बैठक के बाद सभी को निष्ठा की शपथ भी दिलवाई गई. शिवसेना हाईकमान को शक है कि उनके विधायकों के साथ खरीद फराख्त का काम हो सकता है.

खबर है कि शिवसेना के विधायकों को एक होटल में ठहराया गया है. इस संबंध में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के साथ हुई बैठक के बाद विधायक गुलाबराव पाटिल ने कहा कि हम आने वाले दो दिन तक रंगशारदा होटल में रुकने वाले हैं. हम सभी वैसा ही करेंगे जैसा उद्धव ठाकरे कहेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 7, 2019, 4:02 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में सरकार बनाने को लेकर बीजेपी और शिवसेना (BJP and Shiv Sena) के बीच घमासान गहराता जा रहा है. विधानसभा चुनाव के परिणाम (Assembly election Results) आने के तेरह दिन बाद भी नई सरकार गठन का रास्ता साफ नहीं हो सका है. शिवसेना (Shiv Sena) के मन में अब हॉर्स ट्रेडिंग (Horse Trading) का डर घर कर गया है. इसके चलते गुरुवार को हुई विधायक दल की बैठक के बाद विधायकों की बाड़ा बंदी (इक्ट्ठा रखने) का इंतजाम किया गया है. खबर है कि शिवसेना के विधायकों को एक होटल में ठहराया गया है. इस संबंध में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के साथ हुई बैठक के बाद विधायक गुलाबराव पाटिल ने कहा कि हम आने वाले दो दिन तक रंगशारदा होटल में रुकने वाले हैं. हम सभी वैसा ही करेंगे जैसा उद्धव ठाकरे कहेंगे.

दिलवाई गई शपथ
सूत्रों के मुताबिक मातोश्री में शिवसेना विधायक दल की हुई बैठक के बाद सभी को निष्ठा की शपथ दिलवाई गई. शिवसेना हाईकमान को आशंका है कि उनके विधायकों के साथ खरीद-फरोख्त का काम हो सकता है. इसे ध्यान में रखते हुए बैठक में बाड़ा बंदी का भी फैसला लिया गया. शिवसेना को डर है कि बीजेपी सरकार बनाने के लिए उसके विधायकों को तोड़ कर अपने साथ मिला सकती है और इस तरह से बहुमत के आंकड़े को छू सकती है.


Loading...

गडकरी ने कहा- सीएम तो फडणवीस ही रहेंगे
उधर महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर जारी जद्दोजहद के बीच पहली बार केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने चुप्पी तोड़ी है. उन्होंने स्पष्ट किया कि सरकार बनाने को लेकर जल्द ही निर्णय लिया जाएगा. उन्होंने मुख्यमंत्री पद को लेकर चल रही अटकलों और बयानबाजियों के जवाब में कहा कि यह साफ है कि सरकार का निर्माण देवेंद्र फडणवीस के नेतृत्व में ही किया जाएगा. उन्होंने ये भी स्पष्ट किया कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) और संघ प्रमुख मोहन भागवत का इससे कोई संबंध नहीं है.

शिवसेना से चल रही है बातचीत
नितिन गडकरी ने कहा कि सरकार बनाने को लेकर शिवसेना से लगातार बातचीत का दौर जारी है. हमें यकीन है कि हम शिवसेना के साथ मिलकर ही महाराष्ट्र में सरकार बनाएंगे. वहीं जब उनसे पूछा गया कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के तौर पर उनके नाम की भी चर्चा है तो उन्होंने कहा कि इसकी संभावना नहीं है, मैं दिल्ली में ही काम करूंगा.

ये भी पढ़ेंः महाराष्ट्र: गडकरी बोले- मैं नहीं बनूंगा CM, फडणवीस के नेतृत्व में बनेगी सरकार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 7, 2019, 3:17 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...