• Home
  • »
  • News
  • »
  • maharashtra
  • »
  • फोन टैपिंग केस में मुंबई पुलिस के सामने पेश नहीं होंगे सीबीआई डायरेक्‍टर: सूत्र

फोन टैपिंग केस में मुंबई पुलिस के सामने पेश नहीं होंगे सीबीआई डायरेक्‍टर: सूत्र

सुबोध जायसवाल को मुंबई पुलिस ने भेजा था समन. (File pic)

सुबोध जायसवाल को मुंबई पुलिस ने भेजा था समन. (File pic)

Subodh Mishra: मुंबई पुलिस के साइबर सेल ने शनिवार को सीबीआई निदेशक और महाराष्ट्र के पूर्व डीजीपी सुबोध कुमार जायसवाल को समन भेजा था और उन्हें 14 अक्टूबर को पेश होने व अपना बयान दर्ज कराने के लिए कहा है.

  • Share this:

    मुंबई. फोन टैपिंग और डेटा लीक मामले (Phone Tap Case) में मुंबई पुलिस (Mumbai Police) की ओर से सीबीआई डायरेक्‍टर (CBI Director) को तलब करने के एक दिन बाद सूत्रों ने न्‍यूज18 को बताया है कि इस मामले में सुबोध जायसवाल (Subodh Jaiswal) के पेश होने की संभावना नहीं है. अधिकारियों ने कहा, ‘अभी तक केवल एक प्रश्नावली प्राप्त हुई है. हम कानूनी राय लेने के बाद प्रतिक्रिया भेजेंगे.

    मुंबई पुलिस के साइबर सेल ने शनिवार को सीबीआई निदेशक और महाराष्ट्र के पूर्व डीजीपी सुबोध कुमार जायसवाल को समन भेजा था और उन्हें 14 अक्टूबर को पेश होने व अपना बयान दर्ज कराने के लिए कहा था. महाराष्ट्र पुलिस के अधिकारियों ने कहा कि समन ईमेल द्वारा भेजे गए थे.

    यह मामला आईपीएस अधिकारी रश्मि शुक्ला द्वारा तैयार की गई एक रिपोर्ट ‘लीक’ होने से जुड़ा है. रिपोर्ट में कहा गया था कि जब शुक्ला महाराष्ट्र पुलिस के खुफिया विभाग की प्रमुख थीं तब पुलिस अधिकारियों के स्थानांतरण में कथित तौर पर भ्रष्टाचार हुआ.

    उस दौरान जायसवाल पुलिस महानिदेशक थे. आरोप है कि जांच के दौरान वरिष्ठ नेताओं और अधिकारियों के फोन टैप किए गए और रिपोर्ट को जानबूझकर लीक किया गया, लेकिन इस संबंध में साइबर सेल द्वारा दर्ज प्राथमिकी में शुक्ला या किसी अन्य अधिकारी का नाम नहीं है. आरोप था कि जांच के दौरान वरिष्ठ नेताओं और अधिकारियों के फोन अवैध रूप से टैप किए गए और रिपोर्ट जानबूझकर लीक की गई.

    सीबीआई के सूत्रों ने कहा कि महाराष्ट्र पुलिस से सुबोध जायसवाल से पूछताछ को लेकर इस रिपोर्ट के बारे में जानकारी मांगी गई है. एक अधिकारी ने न्यूज18 को बताया, ‘उन्होंने रिपोर्ट के बारे में पूछा है कि क्या फोन टैपिंग में पहले उचित प्रक्रिया का पालन किया गया था और कार्रवाई के बारे में जानकारी दी गई थी.’

    यह कदम बदले के रूप में भी देखा जा रहा है, क्‍योंक‍ि सीबीआई ने वर्तमान मुख्य सचिव और डीजीपी को अनिल देशमुख मामले में पेश होने के लिए कहा था. इससे पहले रश्मि शुक्ला का बयान बीकेसी साइबर थाने ने दर्ज किया गया था. अधिकारियों ने बताया कि सुबोध जायसवाल को मामले में गवाह के तौर पर तलब किया गया है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज