• Home
  • »
  • News
  • »
  • maharashtra
  • »
  • SSR Death Case: सुशांत के फ्लैट पर 14 जून को आखिर क्या हुआ था? चाबीवाले ने किया खुलासा

SSR Death Case: सुशांत के फ्लैट पर 14 जून को आखिर क्या हुआ था? चाबीवाले ने किया खुलासा

Sushant Singh Rajput Case: सुशांत सिंह राजपूत की मौत मामले की जांच अब नार्को कंट्रोल ब्यूरो भी शुरू करने जा रही है.

Sushant Singh Rajput Case: सुशांत सिंह राजपूत की मौत मामले की जांच अब नार्को कंट्रोल ब्यूरो भी शुरू करने जा रही है.

SSR Death Case: सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) के कमरे का दरवाजा तोड़ने वाले रफी शेख ने बताया कि जैसे ही लॉक तोड़ने के बाद मैंने दरवाजा खोलने की कोशिश की तो वहां मौजूद लोगों ने मुझे कुछ देखने ही नहीं दिया. दरवाजा खुलते ही वहां मौजूद लोग मुझे बाहर ले आए और वहां से जाने को कह दिया.

  • Share this:
    मुंबई. बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत के मामले में हर दिन नए राज़ खुल रहे हैं. हर कोई ये जानने की कोशिश कर रहा है कि आखिर 14 जून को सुशांत के फ्लैट में क्या हुआ था. सीबीआई जांच (CBI investigation) के बीच घटना वाले दिन सुशांत सिंह राजपूत के कमरे के दरवाजे का लॉक खोलने वाले चाबीवाले ने इस पूरे मामले में कई बड़े राज खोले हैं.

    मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, मोहम्मद रफी शेख नाम के चाबीवाले ने सुशांत के कमरे का ताला खोला था. रफी शेख ने बताया कि 14 जून को सिद्धार्थ पिठानी के फोन करने पर वह सुशांत के फ्लैट पर पहुंचा था. हालांकि उसने बताया कि उसे इस बात का बिल्कुल भी अंदाजा नहीं था कि फ्लैट सुशांत सिंह राजपूत का है. रफी ने बताया कि जब वह सुशांत के कमरे के पास पहुंचा तो उसने देखा कि दरवाजे पर कम्प्यूटराइज की वाला लॉक लगा है.

    रफी शेख ने बताया कि उस वक्त वहां पर चार लोग मौजूद थे. उसने बताया कि ताला तोड़ने के बाद उसे तुरंत वहां से जाने के लिए कह दिया गया था. ​तब तक उसे घटना के बारे में कोई जानकारी नहीं थी. रफी ने बताया कि जैसे ही लॉक टूटा और मैंने दरवाजा खोलने की कोशिश की तो वहां मौजूद लोगों ने मुझे कुछ देखने ही नहीं दिया. दरवाजा खुलते ही वहां मौजूद लोग मुझे बाहर ले आए और वहां से जाने को कह दिया.

    इसे भी पढ़ें :- सुशांत के शरीर पर लगे चोट की स्टडी करेगी AIIMS की फॉरेंसिक टीम, हत्या या आत्महत्या का ढूंढेंगी जवाब

    रफी शेख ने बताया कि उस दिन चारों में से कोई भी घबराया हुआ नहीं लग रहा था. हर कोई बस ये चाहता था कि मैं दरवाजा खोल दूं. रफी ने बताया कि उन्होंने कहा ​था कि पैसे की कोई टेंशन नहीं है बस दरवाजा खुलना चाहिए. चाहे उसे तोड़ना ही क्यों न पड़े.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज