कांग्रेस के अड़ियल रुख ने महाराष्ट्र के विधान परिषद चुनाव में पैदा की टेंशन
Maharashtra News in Hindi

कांग्रेस के अड़ियल रुख ने महाराष्ट्र के विधान परिषद चुनाव में पैदा की टेंशन
288 सदस्यीय विधानसभा में सत्तारूढ़ महा विकास अघाड़ी (MVA) को 169 विधायकों का समर्थन प्राप्त है. जबकि शिवसेना के 56 विधायक हैं, वहीं NCP के 54 विधायक, कांग्रेस (Congress) के 44 विधायक और अन्य 15 विधायक उनके साथ हैं.

288 सदस्यीय विधानसभा में सत्तारूढ़ महा विकास अघाड़ी (MVA) को 169 विधायकों का समर्थन प्राप्त है. जबकि शिवसेना के 56 विधायक हैं, वहीं NCP के 54 विधायक, कांग्रेस (Congress) के 44 विधायक और अन्य 15 विधायक उनके साथ हैं.

  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Mahrashtra) में विधान परिषद (Vidhan Parishad) के लिए चुनाव होने हैं. बीते दिनों महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी (bhagat singh koshyari) ने चुनाव आयोग को निर्देश दिया था कि वह चुनाव कराए. इस प्रक्रिया में 9 खाली सीटों पर चुनाव कराया जाएगा जिसमें खुद सीएम उद्धव ठाकरे (uddhav thackeray) मैदान में होंगे. वहीं राज्य में चुनाव निर्विरोध होंगे या फिर उनके लिए वोटिंग होगी, यह कांग्रेस (Congress) पर निर्भर है.

विधान परिषद के चुनाव के लिए कांग्रेस दो सीटें मांग रही हैं. राज्य में सीटों के अनुसार राजनीतिक गणित देख जाए तो शिवसेना की अगुआई वाली महाविकास आघाड़ी पांच सीट और भाजपा के चार सीट पर चुनाव लड़ने की चर्चा की जा रही है. सरकार में शामिल एनसीपी और शिवसेना जहां 2-2 सीटों पर लड़ेगी वहीं कांग्रेस को एक सीट दी जा रही है. पार्टी इस बात से खफा है.

माना जा रहा है कि कांग्रेस अगर दो सीटों की मांग पर अड़ी रही तो विधान परिषद में 9 सीटों के लिए 10 उम्मीदवार चुनाव लड़ेंगे और ऐसी स्थिति में वोटिंग करानी पड़ेगी. तब निर्विरोध चुनाव नहीं हो सकता है. महाराष्ट्र के राजस्व मंत्री और कांग्रेस नेता बालासाहेब थोराट इस बारे में गठबंधन नेताओं से बातचीत कर रहे हैं.



3 मई से शुरू है नामांकन की प्रक्रिया
9 सीटों के लिए होने वाले चुनाव के लिए सोमवार यानी 3 मई से ही नामांकन प्रक्रिया शुरू कर दी गई है हालांकि मंगलवार तक कोई नामांकन नहीं हुआ था. एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार शिवेसना से सीएम उद्धव ठाकरे और  नीलम गोरे उम्मीदवार हो सकते हैं. मुख्यमंत्री के नामांकन पत्र पर मुंबई, ठाणे और रायगढ़ के विधायकों के दस्तखत कराए गए हैं.

बात करें नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी यानी एनसीपी की करें तो यहां कई नाम चर्चा में हैं. सबसे ज्यादा चर्चा एनसीपी की महिला यूनिट की अध्यक्ष रूपाली चाकणकर का नाम है. चाकणकर सुप्रिया सुले की करीबी मानी जाती हैं. ऐसे में माना जा रहा है कि उन्हें पार्टी मौका दे सकती है. वहीं हेमंत टकले का नाम भी चर्चा में है. टकले, शरद पवार के करीबी हैं. बीजेपी की ओर से शशिकांत शिंदे का नाम भी चर्चा में है.

कौन है कांग्रेस की रेस में
महाराष्ट्र की सरकार में सहयोगी कांग्रेस अपने दो उम्मीदवार उतारना चाहती है. इसमें मुख्य प्रवक्ता सचिन सावंत, पूर्व मंत्री नसीम खान, चंद्रकांत हंडोरे और सुरेश शेट्टी का नाम चल रहा है. इसके साथ ही पुणे के मोहन जोशी, औरंगाबाद सतीश चतुर्वेगी और रजनी पटेल का नाम भी चर्चा में है. अखिल भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस कमेटी के सूत्रों ने जानकारी दी कि पार्टी हाईकमान कुछ दिनों में नाम घोषित कर सकती है. पार्टी ने बालासाहेब थोराट और महाराष्ट्र कांग्रेस के प्रभारी मल्लिकार्जुन खड़गे को सीएम ठाकरे और एनसीपी मुखिया पवार के साथ दो सीट का मुद्दा निपटाने को कहा गया है.

वहीं विशेषज्ञों की मानें तो परिषद का चुनाव गुप्त मतदान से होता है, ऐसे में क्रॉस वोटिंग के आसार ज्यादा हैं. दोनों पक्ष क्रॉस वोटिंग की स्थिति नहीं पैदा होने देना चाहते. सभी दल चाहेंगे कि मतदान की स्थिति पैदा ना हो.

यह भी पढ़ें:- कोरोना की जंग जीतना नहीं है आसान, COVID-19 टेस्टिंग में पिछड़े यूपी और बिहार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading