चीनी उद्योग के प्रोजेक्टों को सिंगल विंडो सिस्टम से दी जाएगी मंजूरी: देवेंद्र फड़नवीस

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने कहा है कि चीनी उद्योगों से संबंधित जो भी परियोजनाओं होंगी उन्हें सिंगल विंडो सिस्टम से मंजूरी दी जाएगी. उन्होंने बताया कि सिंगल विंडो सिस्टम की व्यवस्था बनाने के लिए वे मंत्रियों का एक समूह गठित करेंगे.

News18Hindi
Updated: July 8, 2019, 6:07 AM IST
चीनी उद्योग के प्रोजेक्टों को सिंगल विंडो सिस्टम से दी जाएगी मंजूरी: देवेंद्र फड़नवीस
देवेंद्र फड़नवीस (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: July 8, 2019, 6:07 AM IST
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने कहा है कि चीनी उद्योगों से संबंधित जो भी परियोजनाओं होंगी उन्हें सिंगल विंडो सिस्टम से मंजूरी दी जाएगी. उन्होंने बताया कि सिंगल विंडो सिस्टम की व्यवस्था बनाने के लिए अगले तीन दिनों में वे मंत्रियों का एक समूह गठित करेंगे. वे रविवार को महाराष्ट्र स्टेट को-ऑपरेटिव बैंक लिमिटेड की ओर से पुणे में आयोजित 'शुगर कॉन्फ्रेंस 2020' को संबोधित कर रहे थे.

सीएम ने कहा कि चीनी उद्योग की समस्या से छुटकारा पाने के लिए चीनी कारखानों को इथेनॉल के साथ उप-पदार्थों के उत्पादन की ओर बढ़ना चाहिए. केंद्र सरकार ने इथेनॉल के बारे में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए हैं. महाराष्ट्र सरकार इथेनॉल विनिर्माण संयंत्रों की स्थापना के लिए शीघ्रता से मंजूरी देने के लिए एकल खिड़की योजना तैयार करेगी.

महाराष्ट्र स्टेट को-ऑपरेटिव बैंक लिमिटेड ने मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए सीएम को 5 करोड़ रुपए का चेक दिया. इस मौके पर केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी भी मौजूद थे.

चीनी मिलों को इथेनॉल बनाने पर ध्यान देना चाहिए: नितिन गडकरी
केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने रविवार को कहा कि देश में चीनी का अतिरिक्त उत्पादन 'बड़ी समस्या' है. उन्होंने चीनी मिलों को सुझाव दिया कि उन्हें चीनी के उत्पादन की बजाय इथेनॉल बनाने पर ध्यान देना चाहिए. उन्होंने कहा कि देश में पानी की कमी नहीं है बल्कि जल प्रबंधन का अभाव है. गडकरी ने महाराष्ट्र स्टेट को-ऑपरेटिव बैंक लिमिटेड की ओर से आयोजित 'शुगर कॉन्फ्रेंस 2020' को संबोधित करते हुए यह बात कही.

इथेनॉल का बाजार है
नितिन गडकरी ने कहा, ''वर्तमान में देश में चीनी का अतिरिक्त उत्पादन हो रहा है, इसलिए चीनी का उत्पादन बढ़ाने में कोई फायदा नहीं है, लेकिन इथेनॉल में भविष्य है इसलिए चीनी मिलों को शुगर की बजाय इथेनॉल बनाने पर ध्यान देना चाहिए.''

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री गडकरी ने कहा कि केंद्र सरकार ने इथेनॉल पर एक पारदर्शी नीति पेश की है और पेट्रोलियम मंत्रालय उसे खरीदने के लिए तैयार है. कुल मिलाकर इथेनॉल का बाजार है. गडकरी ने कहा कि सरकार चीनी उद्योग के पुनरोद्धार के लिए सब कुछ कर रही है.

ये भी पढ़ें -

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 8, 2019, 5:55 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...