Sushant Case: सुशांत की मौत से एक दिन पहले रिया चक्रवर्ती से मिलने का दावा निकला झूठा, CBI ने पड़ोसन को चेताया

सुशांत सिंह राजपूत 14 जून को बांद्रा में अपने अपार्टमेंट में मृत पाए गए थे.
सुशांत सिंह राजपूत 14 जून को बांद्रा में अपने अपार्टमेंट में मृत पाए गए थे.

रिया की पड़ोसन ने एक टीवी चैनल के सामने दावा किया था कि सुशांत (Sushant Singh Rajput Death Case) और रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) की मुलाकात 13 जून को हुई थी. पड़ोसन का दावा था कि 13 जून की शाम सुशांत ने रिया को शाम 6 से 6:30 के बीच घर छोड़ा था. सुशांत अकेले ही रिया को छोड़ने आए थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 12, 2020, 8:54 AM IST
  • Share this:
मुंबई. सुशांत सिंह राजपूत की मौत (Sushant Singh Rajput Death Case) की गुत्थी अभी तक सुलझ नहीं पाई है. सीबीआई ने मर्डर की थ्योरी खारिज कर दी है और अब इस केस की सुसाइड के एंगल से जांच कर रही है. सुशांत केस को लेकर अब तक कई बड़े दावे किए जा चुके हैं. हाल ही में रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) की पड़ोसी ने दावा किया था कि सुशांत की मौत से एक दिन पहले यानी 13 जून को रिया उनसे मिलने बांद्रा के अपार्टमेंट में गई थी. लेकिन सीबीआई की तफ्तीश में सुशांत की मौ से एक दिन पहले रिया चक्रवर्ती का उनसे मिलने का दावा झूठा निकला है. सूत्रों का कहना है कि इन आरोपों पर सीबीआई ने रिया के पड़ोसी से पूछताछ की तो सच्चाई सामने आ गई. अब केंद्रीय जांच एजेंसी (CBI) ने ऐसे झूठे दावे करने वाले लोगों को कड़ी चेतावनी दी है.

सूत्रों के मुताबिक, रिया की पड़ोसन ने एक टीवी चैनल के सामने दावा किया था कि सुशांत और रिया चक्रवर्ती की मुलाकात 13 जून को हुई थी. पड़ोसन का दावा था कि 13 जून की शाम सुशांत ने रिया को शाम 6 से 6:30 के बीच घर छोड़ा था. सुशांत अकेले ही रिया को छोड़ने आए थे. जब सीबीआई जांच के लिए रिया के घर गई, तो ऐसे कोई सबूत नहीं मिले. रविवार को पड़ोसन ने जांच एजेंसी के सामने स्वीकार किया कि उसने 13 जून को सुशांत को रिया के घर के हर नहीं देखा था.

अदालत की निगरानी में दिशा की मौत की जांच के लिए हाईकोर्ट में दायर हो याचिका : सुप्रीम कोर्ट



रिया के वकील की मांग- झूठी खबरें फैलाने वालों पर हो कार्ववाई
रिया चक्रवर्ती के वकील सतीश मानशिंदे ने केंद्रीय एजेंसी से ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने को कहा है, जो मीडिया के सामने झूठे दावे करते हैं. मानशिंदे ने कहा कि हम टीवी और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के समक्ष केंद्रीय जांच एजेंसी को झूठे और फर्जी दावे करने वाले लोगों की सूची भेजने जा रहे हैं.

बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत 14 जून को बांद्रा में अपने अपार्टमेंट में मृत पाए गए थे. मुंबई पुलिस ने इसे आत्महत्या का मामला करार दिया था. फोरेंसिक रिपोर्ट की जांच करने वाले दिल्ली के एम्स के डॉक्टरों ने भी इसकी पुष्टि की है.

परिवार ने कहा- असली केस से भटक गई जांच एजेंसी
रिया और उनके परिवार ने इलेक्ट्रॉनिक और सोशल मीडिया में उनके खिलाफ झूठी खबरों और आधारहीन हमलों के बारे में चिंता व्यक्त की है. उनका कहना है कि इस तरह की झूठी खबरों के कारण ही असली मामले से लोग भटक गए. फिर तीन केंद्रीय एजेंसियों को जांच में शामिल होना पड़ा. परिवार का दावा है कि झूठे केस में रिया चक्रवर्ती और शोविक चक्रवर्ती को भी गिरफ्तार कर लिया गया.

सुशांत केस: रिया चक्रवर्ती को कड़ी शर्तों के साथ मिली बेल, कोर्ट ने कहा- वह ड्रग डीलर नहीं

पिछले हफ्ते रिया को मिली जमानत
बता दें कि रिया चक्रवर्ती को ड्रग्स केस में 8 सितंबर कर नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरों ने अरेस्ट किया था. वह करीब एक महीने तक मुंबई के भायकुला जेल में बंद थीं. पिछले हफ्ते बॉम्बे हाईकोर्ट ने उन्हें सशर्त जमानत दे दी थी, लेकिन शोविक अभी भी जेल में हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज