सुप्रीम कोर्ट में है मंदिर मुद्दा, कानून या अध्यादेश नहीं लाया जा सकता: योगी के मंत्री

स्वामी प्रसाद मौर्य ने महाराष्ट्र के ठाणे में कहा कि, ‘‘मंदिर का मुद्दा सुप्रीम कोर्ट में है. वर्तमान स्थिति में संसद में कोई विधेयक पेश नहीं किया जा सकता है... जब तक सुप्रीम कोर्ट का निर्णय नहीं आता है. इस विषय में संसद को कानून बनाने का अधिकार नहीं है.’’

भाषा
Updated: December 17, 2018, 11:25 PM IST
सुप्रीम कोर्ट में है मंदिर मुद्दा, कानून या अध्यादेश नहीं लाया जा सकता: योगी के मंत्री
योगी आदित्यनाथ सरकार के कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य (फाइल फोटो).
भाषा
Updated: December 17, 2018, 11:25 PM IST
उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार के कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने रविवार को कहा कि इस समय राम मंदिर मुद्दे पर संसद में कोई विधेयक नहीं लाया जा सकता है क्योंकि राम मंदिर-बाबरी मस्जिद का मुद्दा सुप्रीम कोर्ट में है.

स्वामी प्रसाद मौर्य ने महाराष्ट्र के ठाणे में कहा कि, ‘‘मंदिर का मुद्दा सुप्रीम कोर्ट में है. वर्तमान स्थिति में संसद में कोई विधेयक पेश नहीं किया जा सकता है... जब तक सुप्रीम कोर्ट का निर्णय नहीं आता है. इस विषय में संसद को कानून बनाने का अधिकार नहीं है.’’

मौर्य ने कहा कि अध्यादेश लाने का मुद्दा तभी उठ सकता है जब अदालत का फैसला पक्ष या विपक्ष में आ जाए. बसपा के पूर्व नेता मौर्य अब उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार में मंत्री हैं.

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) मांग करती रही है कि नरेन्द्र मोदी सरकार अयोध्या में राम मंदिर बनाने के लिए कानून बनाए या अध्यादेश का रास्ता अपनाए.

उन्होंने कहा कि लोगों को धैर्य बनाए रखना चाहिए और उच्चतम न्यायालय का सम्मान करना चाहिए. मौर्य अखिल भारतीय माली महासंघ के राष्ट्रीय सम्मेलन के इतर बात कर रहे थे. कार्यक्रम में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता और महाराष्ट्र के पूर्व उपमुख्यमंत्री छगन भुजबल ने भी शिरकत की.

ये भी पढ़ें - 
First published: December 17, 2018, 11:20 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...