लाइव टीवी

साईंबाबा जन्मस्थान पर बोले शिवसेना नेता- CM ठाकरे ने हमारी मांगें मानीं
Maharashtra News in Hindi

News18Hindi
Updated: January 20, 2020, 8:12 PM IST
साईंबाबा जन्मस्थान पर बोले शिवसेना नेता- CM ठाकरे ने हमारी मांगें मानीं
उद्धव ठाकरे के साथ हुई बैठक के बाद साईंबाबा संस्थान ट्रस्ट ने कहा कि मुख्यमंत्री ने हमारी मांगें मान ली हैं

सीएम उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thackeray) के साथ हुई बैठक के बाद साईंबाबा संस्थान ट्रस्ट (Saibaba Sansthan Trust) ने कहा कि मुख्यमंत्री ने हमारी मांगें मान ली हैं. उनकी बातों से शिरडी (Shirdi) के लोग संतुष्ट हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 20, 2020, 8:12 PM IST
  • Share this:
मुंबई. शिवसेना नेता कमलाकर कोथे (Kamlakar Kothe) ने सोमवार को कहा कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thackeray) ने उन्हें आश्वासन दिया है कि पथरी गांव को साईंबाबा का जन्मस्थान करार नहीं दिया जाएगा. कोथे ने कहा कि अब इस पर नया विवाद शुरू नहीं होगा क्योंकि अब यह मामला खत्म हो चुका है.

उद्धव ठाकरे के साथ हुई बैठक के बाद साईंबाबा संस्थान ट्रस्ट (Saibaba Sansthan Trust) ने कहा कि मुख्यमंत्री ने हमारी मांगें मान ली हैं. उनकी बातों से शिरडी (Shirdi) के लोग संतुष्ट हैं. उन्होंने यह आश्वासन दिया है कि अब इस मुद्दे पर कोई विवाद नहीं होगा और हम इस मामले को खत्म कर रहे हैं.

प्रतिनिधिमंडल ने की सीएम से मुलाकात
बता दें सोमवार को 40 लोगों का एक प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से मुलाकात की थी. इन 40 लोगों में साईं मंदिर ट्रस्ट के सदस्य और शिवसेना के सांसद सदाशिव लोखंडे मौजूद थे. इससे पहले रविवार को साई बाबा के जन्मस्थान को लेकर छिड़े विवाद के बाद शिरडी में रविवार को एक दिन का बंद बुलाया गया.

यह बंद ठाकरे के उस बयान के बाद किया गया जिसमें उन्होंने अहमदनगर जिले के शिरडी से करीब 273 किलोमीटर दूर परभणि जिले के पाथरी में “साई जन्मस्थान” पर सुविधाओं के विकास के लिए 100 करोड़ रुपये का अनुदान देने की बात कही थी.

सीएम ने की थी ये घोषणा
गौरतलब है कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के परभणी जिले के पाथरी में साईं बाबा जन्मस्थान पर सुविधाओं का विकास करने के लिए 100 करोड़ रुपये की राशि आवंटित करने की घोषणा के बाद यह विवाद पैदा हुआ.शिरडी के स्थानीय लोगों एवं नेताओं ने पाथरी को साईं बाबा का जन्म स्थान बताने पर आपत्ति जताई और दावा किया कि उनका जन्मस्थान और उनका धर्म अज्ञात है.

(भाषा के इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें-
अनुच्छेद 370 हटने पर जागरुकता लाने को 36 में से 5 मंत्री ही करेंगे कश्मीर दौरा

नेताजी बोस के पोते ने कहा- CAA में मुसलमानों को शामिल किया जाना चाहिए

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए महाराष्ट्र से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 20, 2020, 8:12 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर