होम /न्यूज /महाराष्ट्र /

शिवसेना चुनाव चिह्न किसका? उद्धव ठाकरे गुट ने दस्तावेज जमा करने के लिए EC से मांगे 4 हफ्ते

शिवसेना चुनाव चिह्न किसका? उद्धव ठाकरे गुट ने दस्तावेज जमा करने के लिए EC से मांगे 4 हफ्ते

शिवसेना प्रमुख और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे. (फाइल फोटो)

शिवसेना प्रमुख और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे. (फाइल फोटो)

Shiv Sena Poll Symbol: चार अगस्त को उच्चतम न्यायालय ने निर्वाचन आयोग से कहा था कि वह एकनाथ शिंदे गुट की अर्जी पर कार्रवाई नहीं करे जिसमें उसे वास्तविक शिवसेना मानने और पार्टी चुनाव चिह्न आवंटित करने का अनुरोध किया गया है.

मुंबई. शिवसेना के उद्धव ठाकरे ने पार्टी के चुनाव चिह्न पर दावेदारी के समर्थन में दस्तावजे जमा कराने के लिए चार हफ्ते का समय निर्वाचन आयोग से मांगा है. पार्टी नेता ने सोमवार को यह जानकारी दी. पिछले महीने निर्वाचन आयोग ने शिवसेना के उद्धव ठाकरे और मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे गुट को आठ अगस्त तक पार्टी के चुनाव चिह्न ‘तीर और धनुष’ पर अपने-अपने दावे के समर्थन में दस्तावेज जमा कराने को कहा था.

ठाकरे के प्रति निष्ठावान अनिल देसाई ने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा, ‘हमने निर्वाचन आयोग से चार हफ्ते का समय मांगा है क्योंकि बागी विधायकों को अयोग्य ठहराने संबंधी याचिका पर उच्चतम न्यायालय में सुनवाई चल रही है. पहले अर्जी पर फैसला हो जाए,इस मुद्दे (चुनाव चिह्न पर) पर बाद में फैसला हो सकता है.’

उल्लेखनीय है कि चार अगस्त को उच्चतम न्यायालय ने निर्वाचन आयोग से कहा था कि वह एकनाथ शिंदे गुट की अर्जी पर कार्रवाई नहीं करे जिसमें उसे वास्तविक शिवसेना मानने और पार्टी चुनाव चिह्न आवंटित करने का अनुरोध किया गया है.

महाराष्ट्र: एकनाथ शिंदे के मंत्रिमंडल का विस्तार नौ अगस्त को
दूसरी ओर, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे अपने 40 दिन पुराने मंत्रिमंडल का नौ अगस्त को विस्तार करेंगे. मुख्यमंत्री ने सोमवार को यह जानकारी दी. शिंदे ने मराठवाड़ा क्षेत्र में नांदेड़ में पत्रकारों से कहा, ‘मंत्रिमंडल का विस्तार 9 अगस्त को होने की उम्मीद है.’ शिंदे के एक करीबी सहयोगी ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया कि दक्षिण मुंबई में राजभवन में पूर्वाह्न 11 बजे निर्धारित समारोह में एक दर्जन मंत्री शपथ लेंगे. उन्होंने कहा कि अगले दौर का विस्तार बाद में होगा.

शिवसेना में बगावत के कारण ठाकरे के इस्तीफा देने के बाद एकनाथ शिंदे और देवेंद्र फडणवीस ने 30 जून को मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी. शिंदे-फडणवीस सरकार ने 4 जुलाई को महाराष्ट्र विधानसभा में बहुमत साबित किया था. दो सदस्यीय मंत्रिमंडल की कई बैठकें हो चुकी हैं और राज्य में रुकी हुई परियोजनाओं को फिर से शुरू करने सहित महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए हैं.

Tags: Eknath Shinde, Shiv sena, Uddhav thackeray

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर