लाइव टीवी

सूखे के कारण 24 लड़के-लड़कियों की रुकी शादियां, गुड्डे-गुड़ियों का कराया विवाह

News18Hindi
Updated: June 23, 2019, 9:32 AM IST

इस समस्‍या से निपटने के लिए महाराष्‍ट्र में कुछ लोग गुड्डे-गुड़ियों की शादी करा रहे हैं.

  • Share this:
तमिलनाडु, महाराष्‍ट्र सहित भारत के कुछ राज्‍यों में जबरदस्‍त सूखा पड़ रहा है. कई जगह पेयजल संकट भी खतरनाक स्‍तर पर पहुंच गया है. लोग पीने के पानी को तरस रहे हैं. इससे जुड़ी एक और चौंकाने वाली खबर आ रही है. महाराष्‍ट्र में सूखा और पेयजल की समस्‍या के कारण लड़के-लड़कियों की शादियां नहीं हो पा रही हैं.

न्‍यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार, इस समस्‍या से निपटने के लिए महाराष्‍ट्र में कुछ लोग गुड्डे-गुड़ियों की शादी करा रहे हैं. ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि लड़के-लड़कियों की रुकी हुई शादी हो सके. एक तरफ राज्‍य सरकार सूखे और पेयजल की समस्‍या से निपटने के लिए उपाय करने में लगी है, वहीं लोग भी जादू-टोना का सहारा ले रहे हैं. महाराष्‍ट्र के एक गांव के लोगों का कहना है कि सूखे के कारण लगभग 22 लड़के और 2 लड़कियों की शादी नहीं हो पा रही है. इसलिए गुड्डों-गुड़ियों की शादी कराई जा रही है.

पिछले तीन साल में 12,021 किसानों ने की आत्महत्या

महाराष्ट्र सरकार ने विधान परिषद में यह जानकारी दी कि वर्ष 2015 से 2018 के दौरान करीब 12,021 किसानों ने आत्महत्या की है. राज्य के राहत और पुनर्वास मंत्री सुभाष देशमुख ने एक लिखित जवाब में बताया कि तीन साल की अवधि के दौरान कुल 6,888 मामले जिला स्तरीय समितियों द्वारा जांच के बाद सरकारी सहायता के योग्य पाए गए.



तीन महीने में 610 किसानों ने की आत्महत्या

मंत्री ने बताया कि अब तक 6,845 किसानों के परिवारों के सदस्यों को एक-एक लाख रुपये की वित्तीय सहायता दी गई है. इसके अलावा, जनवरी और मार्च 2019 के बीच 610 किसानों ने आत्महत्या की है, जिनमें से 192 मामले वित्तीय सहायता के लिए पात्र पाए गए थे. देशमुख ने कहा कि 192 पात्र मामलों में से 182 किसानों के परिजनों को वित्तीय मुआवजा दिया गया है. उन्होंने कहा कि मुआवजे के लिए पात्रता की जांच के लिए शेष मामलों की जांच की जा रही है.
Loading...

ये भी पढ़ें: महाराष्ट्र: पिछले तीन साल में 12,021 किसानों ने की आत्महत्या

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 22, 2019, 11:27 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...