NEET-JEE परीक्षाओं में शामिल होने वाले स्टूडेंट्स के लिए मुंबई में चलेंगी 46 अतिरिक्त लोकल ट्रेनें
Maharashtra News in Hindi

NEET-JEE परीक्षाओं में शामिल होने वाले स्टूडेंट्स के लिए मुंबई में चलेंगी 46 अतिरिक्त लोकल ट्रेनें
NEET-JEE परीक्षाओं के दौरान स्टूडेंट्स की सुविधा के लिए मुंबई में 46 अतिरिक्त लोकल ट्रेनें चलेंगीं (सांकेतिक फोटो)

पश्चिम रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी (Public Relations officer- PRO) ने कहा है, "पश्चिम रेलवे (Western Railways) 1 सितंबर से 6 सितंबर के बीच मुंबई में 46 अतिरिक्त उपनगरीय सेवाओं का संचालन करेगा ताकि जेईई और नीट (JEE and NEET) परीक्षाओं के अभ्यार्थियों को यातायात में सुविधा हो."

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 1, 2020, 4:48 PM IST
  • Share this:
मुंबई. देश की आर्थिक राजधानी मुंबई (Mumbai) में एनईईटी और जेईई (NEET and JEE) परीक्षाओं में बैठने वाले स्टूडेंट्स (Students) के लिए एक राहत भरी खबर सामने आई है. पश्चिम रेलवे (Western Railways) ने इन स्टूडेंट्स को बिना किसी परेशानी के परीक्षाओं में शामिल हो सकने के लिए 1 सितंबर से 6 सितंबर के बीच 46 अतिरिक्त विशेष उपनगरीय ट्रेनों (additional special suburban services) यानी 46 और मुंबई लोकल ट्रेनों (Local Trains) का संचालन करने की बात कही है. ऐसा इसलिए किया जाएगा ताकि इन राष्ट्रीय परीक्षाओं (Exams) में शामिल होने वाले मुंबई के अभ्यर्थियों को कोविड-19 संकट (Covid-19 Crisis) के दौर में सुरक्षित यातायात का साधन उपलब्ध कराया जा सके.

एनईईटी और जेईई (NEET and JEE) परीक्षाओं में बैठने वाले स्टूडेंट्स (Students) के सुरक्षित यातायात का साधन उपलब्ध कराने के संदर्भ में पश्चिम रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी (Public Relations officer- PRO) ने कहा है, "पश्चिम रेलवे (Western Railways) 1 सितंबर से 6 सितंबर के बीच मुंबई में 46 अतिरिक्त उपनगरीय सेवाओं का संचालन करेगा ताकि जेईई और एनईईटी- नीट (JEE and NEET) परीक्षाओं के अभ्यार्थियों को यातायात में सुविधा हो."

परीक्षा केंद्रों की संख्या बढ़ाने, एक सीट छोड़कर बैठाने जैसे कई सुरक्षा कदम उठाये गये
सितंबर में होने जा रही इन मेडिकल और इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षाओं (एनईईटी और जेईई) परीक्षाओं को लेकर राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) ने परीक्षा केंद्रों की संख्या बढ़ाने, एक सीट छोड़कर बैठाने, प्रत्येक कमरे में कम उम्मीदवारों को बैठाने और प्रवेश-निकास की अलग व्यवस्था जैसे कदम उठाने जैसी बातें कही हैं.
यह भी पढ़ें:- जब HC के हिसाब से भाषण देशहित में था तो 9 महीने से जेल में क्यों बंद हैं कफील?



एनटीए ने पिछले हफ्ते अपने बयान में कहा था, ‘‘जेईई के लिए परीक्षा केंद्रों की संख्या 570 से बढ़ाकर 660 की गई है जबकि एनईईटी अब 2,546 केंद्रों के बजाय 3,843 केंद्रों पर होगी. जेईई कंप्यूटर आधारित परीक्षा है जबकि एनईईटी पारंपरिक तरीके से कलम और कागज पर होती है.’’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज